रविवार, 30 अगस्त 2020

मन की बात : राष्ट्र और पोषण में गहरा संबंध: मोदी



नयी दिल्ली ।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि क्षमतावान और सामर्थ्यवान बनने में पोषण की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है और इसी कारण राष्ट्र और पोषण के बीच बहुत गहरा संबंध होता है। उन्होंने साथ ही घोषणा की कि पूरे देश में सितंबर को ‘पोषण माह’ के रूप में मनाया जायेगा ।

आकाशवाणी पर मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ 2.0 की 15वीं कड़ी में श्री मोदी ने रविवार को समस्त देशवासियों काे संबोधित करते हुए कहा,“ हमारे देश के बच्चे, हमारे विद्यार्थी, अपनी पूरी क्षमता दिखा पाएं, अपना सामर्थ्य दिखा पाएं, इसमें बहुत बड़ी भूमिका पोषण की भी होती है। पूरे देश में सितम्बर महीने को पोषण माह के रूप में मनाया जाएगा। राष्ट्र और पोषण का बहुत गहरा सम्बन्ध होता है । हमारे यहाँ एक कहावत है – “यथा अन्नम तथा मन्न्म” यानी, जैसा अन्न होता है, वैसा ही हमारा मानसिक और बौद्धिक विकास भी होता है।”

उन्होंने कहा कि विशेषज्ञ कहते हैं कि शिशु को गर्भ में और बचपन में, जितना अच्छा पोषण मिलता है, उतना अच्छा उसका मानसिक विकास होता है और वो स्वस्थ रहता है । बच्चों के पोषण के लिये जरुरी है कि माँ को भी पूरा पोषण मिले और पोषण का मतलब केवल इतना ही नहीं होता कि आप क्या खा रहे हैं, कितना खा रहे हैं, कितनी बार खा रहे हैं । इसका मतलब है आपके शरीर को कितने जरूरी पोषक तत्व मिल रहे हैं । आपको आयरन , कैल्शियम मिल रहे हैं या नहीं, सोडियम मिल रहा है या नहीं, अलग -अलग विटामिन मिल रहे हैं या नहीं, ये सब पोषण के बहुत महत्वपूर्ण आयाम हैं।


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90