सोमवार, 6 जुलाई 2020

सुपोषण अभियान से जुड़ा पौधरोपण: राज्य में ‘मुनगा’ पौधरोपण का विशेष अभियान शुरू


  •  स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावासों में मंत्री, विधायक, जनप्रतिनिधियों सहित नागरिकों ने लगाए मुनगा के पौधे


रायपुर। छत्तीसगढ़ में पौधरोपण को मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान से जोड़ते हुए 6 जुलाई को वन विभाग द्वारा ‘मुनगा’ पौधरोपण के विशेष अभियान की शानदार शुरूआत हो गयी है। इसके अंतर्गत राजधानी सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों के सभी शासकीय स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावास-आश्रमों में प्रोटीन, विटामिन और आयरन के प्रचुर स्रोत मुनगा के पौधे लगाए गए। इस अभियान को सफल बनाने के लिए राज्य भर में शासन-प्रशासन के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों तथा आम नागरिकों नेे सहयोग किया। मुख्यमंत्री श्री बघेल के निर्देश पर कुपोषण मुक्त छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को साकार करने के लिए शुरू किया गया यह अभियान सुपोषण की राह में अहम भूमिका निभाएगा।
उच्च शिक्षामंत्री श्री उमेश पटेल ने खरसिया विधानसभा क्षेत्र के ग्राम चपले के हाईस्कूल परिसर में मुनगा का पौधा लगाकर महाभियान का शुभारंभ किया। कबीरधाम जिले में 50 हजार से अधिक मुनगे के पौधे लगाकर इस अभियान की शुरूआत की गई। यहां एक हजार 611 स्कूलो,ं 87 आश्रम छात्रावासों तथा 816 आंगनबाड़ी और आस-पास की जगह में प्रति स्थल कम-से-कम 5 मुनगा पौधे का रोपण किया गया है। बस्तर जिले के सभी शासकीय स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावास-आश्रमों में ’’मुनगा का पोषण दूर करेगा कुपोषण, कुपोषण के खिलाफ वार, मुनगा बनेगा हथियार’’ जैसे नारों के साथ मुनगा के पौधे का रोपण किया गया। बकावण्ड कन्या स्कूल में बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं बस्तर विधायक श्री लखेश्वर बघेल और कालीपुर के आंगनबाड़ी केंद्र में जगदलपुर विधायक श्री रेखचंद जैन मुनगा पौधे का रोपण कर अभियान में शामिल हुए। बीजापुर स्थित आदर्श कन्या रेसीडेन्सीयल स्कूल परिसर में क्षेत्रीय विधायक एवं उपाध्यक्ष बस्तर विकास प्राधिकरण श्री विक्रम मण्डावी ने मुनगा पौधरोपण किया। नारायणपुर जिले में जनप्रतिनिधियों द्वारा तेलसी आंगनबाड़ी केन्द्र में मुनगा रोपण कर महाभियान की शुरुआत की गई। वन विभाग द्वारा यहां के 193 आंगनबाड़ी केंद्रों, स्कूलों और छात्रावासों में 1150 मुनगा के पौधे लगाये जाएंगे। कांकेर जिले में विधायक श्री शिशुपाल शोरी ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय और प्राथमिक विद्यालय ईच्छापुर के परिसर में मुनगा के पौधों का रोपण कर जिले के सभी 2 हजार 442 विद्यालयों और 188 आश्रम-छात्रावास एवं 2 हजार 108 आंगनबाड़ी केन्द्रों के परिसरों में मुनगा रोपण अभियान शुरू किया। बिलासपुर जिले में तखतपुर विधायक श्रीमती रश्मि सिंह ने शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला सकरी के परिसर में मुनगा पौधा रोपण कर इस महाअभियान को शुरू किया। जशपुर नगर में विधायक श्री विनय भगत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रायमुनी भगत ने भागलपुर स्थित बीटीआई प्रशिक्षण केन्द्र और रानीबगीचा में पौध रोपण करके पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन करने का संदेश दिया गया। इसके साथ ही प्रयास आवासीय विद्यालय में मुनगा, आम,नीम के पौधे लगाए गए।
उल्लेखनीय है कि मुनगा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। मुनगें का फल और भाजी का उपयोग कुपोषण को दूर करने सहायक है। पौष्टिकता से भरपूर मुनगा को आयुर्वेद में महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है। यह डायबिटीज से लेकर कैंसर जैसीे भयंकर बीमारियों तक के लिए चमत्कारी होता है। यह भी बताया जाता है कि मुनगा मल्टीविटामिन से भरपूर होता है। इसकी पत्तियों में प्रोटीन के साथ-साथ विटामिन बी-6, विटामिन सी, विटामिन ए, विटामिन ई पाया जाता है। सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसमें आयरन, मैगनीशियम, पोटेशियम और जिंक जैसे मिनरल भी पाए जाते हैं। राज्य के स्कूलों, आंगनबाड़ी केन्द्रों और छात्रावास-आश्रमों में इसके रोपण से मुनगा सहजता से उपलब्ध होगा वहीं इन संस्थाओं के परिसरों में हरियाली सहित पर्यावरण के संरक्षण तथा संवर्धन को भी बढ़ावा मिलेगा।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90