शनिवार, 6 जून 2020

ओला ने की 'राइड सेफ इंडिया की शुरूआत


नई दिल्ली। भारत के प्रमुख मोबिलिटी प्लेटफॉर्म और दुनिया की सबसे बड़ी राइड-हेलिंग कंपनियों में से एक ओला ने शनिवार को अपनी नई पहल 'राइड सेफ इंडियाÓ की शुरूआत की और यात्रियों एवं ड्राइवर-पार्टनर्स को सुरक्षित मोबिलिटी प्रदान करने के लिए वैश्विक स्तर पर कई पहलों के लिए अगले साल 500 करोड़ रुपये देने का भी वादा किया है।
ओला के प्रवक्ता आनंद सुब्रमण्यन ने आज सुरक्षित मोबिलिटी समाधान मुहैया कराने के लिए ओला के निरंतर प्रयासों के बारे में कहा, "मोबिलिटी आर्थिक एवं सामाजिक प्रगति का मुख्य केंद्र है और इस समय देश को जरूरी कदम उठाने और स्थायी नवाचार की जरूरत है। इससे महामारी के बुरे प्रभावों से उबरने में मदद मिलेगी। 'राइड सेफ इंडियाÓ ओला की प्रतिबद्धता है जो कि इंडस्ट्री को अपने बेंचमार्क बेहतर बनाने और साथ मिलकर समुदाय की भलाई के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रणालियों एवं नवीनतम खोजों में सहयोग देती है।"
उन्होंने बताया, "हम कई पहलों में सबसे आगे हैं। इसमें ड्राइवरों की सेहत की नियमित जांच करना, वाहन के फ्यूोमिगेशन के प्रोटोकॉल, और मास्कल पहचानने की तकनीक आदि शामिल है। इससे ग्राहकों एवं ड्राइवर पार्टनर्स के लिए सुरक्षा और बेहतर होती है। हम देशभर में 500 से अधिक फ्यूेमिगेशन सेंटर्स का मजबूत नेटवर्क बनाकर इसे और बेहतर बना रहे हैं। आने वाले समय में दुनिया भर में विभिन्न सुरक्षा पहलों को लेकर 500 करोड रुपये देने की हमारी प्रतिबद्धता, से कोविड के बाद की दुनिया में मोबिलिटी के नए मानकों का मार्ग प्रशस्तक करने में मदद ?मिलेगी।"
उन्होंने कहा इन पहलों की मदद से वैश्विक महामार कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ हमारी लड़ाई को बल मिलेगा और ड्राइवर पार्टनर्स एवं यात्रियों की यात्रा को सुरक्षित बनाने का इंतजाम किया जाएगा। उन्होने कहा ओला ने देशभर में अपना कामकाज फिर शुरू कर दिया है और यह अब सुरक्षा के बेहतर प्रोटोकॉल के साथ 200 से अधिक शहरों में उपलब्ध है। अपनी नई पहल 'राइड सेफ इंडियाÓ को पेश करते हुए, ओला ड्राइवर-पार्टनर्स और लोगों को मोबिलिटी का सुरक्षित एवं भरोसेमंद अनुभव देने के लिए अपनी दीर्घकालिक प्रतिबद्धता को दोहरा रहा है। उन्होंने कहा कि भारत ने लॉकडाउन के बाद भी महामारी से लडऩा जारी रखा है।
श्री सुब्रमण्यन ने कहा ओला ने सफाई एवं हाइजीन संबंधी प्रक्रियाओं को पहले से और बेहतर बनाने की पहल की है। ओला का उद्देश्य विभिन्न सुरक्षा पहलों को बढ़ावा देना है जिसमें ड्राइवर मानकों का उच्चतम स्तर, कई तकनीकी प्रगति जैसे कि नया डिजाइन किया गया कोविड-रेडी एप, वाहनों के लिए हाइजीन एवं सुरक्षा बेंचमार्क और कोविड के खिलाफ लड़ाई में उद्योग की संयुक्त मिशन शामिल हैं।
ओला प्रवक्ता ने कहा 'राइड सेफ इंडियाÓ सेंटर्स ओला की प्रतिबद्धता से आगे जाकर, रोकथाम एवं सैनिटाइजेशन प्रोटोकॉल के साथ ग्राहकों और ड्राइवर-पार्टनर्स को साथ मिलकर सफाई के उच्चतम मानकों का आनंद उठाने में सक्षम बनाएंगे। इसमें ओला की सभी पेशकशों को शामिल किया जाएगा, फिर चाहे यह चार पहिया वाहन या फिर तिपहिया तथादुपहिया वाहन हो। कई बड़े शहरों में पिछले सप्ताह ओला एप पर परिचालन दोबारा बहाल हो गया है, ओला ने देश भर में कई अस्पतालों एवं एयरपोट्र्स पर 500 से अधिक फ्यू?मिगेशन सेंटर्स का नेटवर्क स्थापित किया है। इससे हर 48 घंटे पर सभी वाहनों के लिए अनिवार्य फ्यूेमिगेशन किया जा सकेगा। यह हर राइड के बाद ड्राइवरों द्वारा वाहनों की नियमित सफाई और सैनिटाइजेन किया जाएगा।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90