बुधवार, 3 जून 2020

, ,

सीएम रेंकिंग में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल देश में दूसरे स्थान पर, बधाई देने जन प्रतिनिधियों का लगा ताता


लोकप्रिय सीएम की रैकिंग में देश में सीएम भूपेश बघेल को दूसरा स्थान मिलने पर जनप्रतिनिधियों ने दी बधाई

छत्तीसगढ़ राज्य के लिए गौरवपूर्ण उपलब्धि
एनपीन्यूज रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार की जन हितैषी योजनाओं एवं जन कल्याण के कार्यक्रमों ने उन्हें जनता के बीच चहेता बना दिया है। देश की एक ख्याति प्राप्त संस्था द्वारा मुख्यमंत्रियों के काम काज और जनता के बीच उनकी छवि को लेकर कराए गए सर्वेक्षण में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल, देश के सर्वाधिक लोकप्रिय मुख्यमंत्रियों में दूसरा स्थान पर रहे हैं छत्तीसगढ़ की 81.06 फीसद जनता ने मुख्यमंत्री के काम काज और उनकी जनहितैषी नीतियों को पसंद किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी सरकार के कामकाज की वजह से छत्तीसगढ़ पूरे देश में गौरवान्वित हुआ है। मुख्यमंत्री की इस गौरवमयी उपलब्धि पर रायपुर सहित राज्य के अन्य इलाकों के जनप्रतिनिधियों ने आज शाम मुख्यमंत्री निवास कार्यालय पहुंच कर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। जन प्रतिनिधियों ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार के कामकाज से जनता खुश है। यह गौरव की बात है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (cm bhupesh baghel) ने इस मौके पर सभी का आभार जताते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार समाज के सभी वर्गों की बेहतरी के लिए काम कर रही है। राज्य के प्रत्येक व्यक्ति को विकास की मुख्य धारा से जोड़ना और प्रत्येक परिवार को खुशहाल बनाना हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में छत्तीसगढ़ के सभी लोगों ने अपनी-अपनी जिम्मेदारियों का बखूबी निर्वहन किया है। यही कारण है कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने तथा लॉकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ राज्य में आने वाले स्थानीय एवं अन्य राज्यों के प्रवासी श्रमिकों को सभी लोगों के सहयोग से बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराई गई। जिसकी देश में प्रशंसा हुई है। छत्तीसगढ़ का मान बढ़ा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अन्य राज्यों के श्रमिक जो अपने राज्य जाने के लिए छत्तीसगढ़ से होकर गुजरे हैं, उनके लिए जगह-जगह भोजन, चाय, नास्ते की व्यवस्था के साथ ही शासन ने उन्हें उनके राज्य की सीमा तक सकुशल पहंुचाने का प्रबंध भी किया। उन्होंने लॉकडाउन की वजह से छत्तीसगढ़ लौटे स्थानीय श्रमिकों के रोजी-रोजगार के प्रबंध के संबंध में प्रदेश सरकार की पहल की विस्तार से जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनरेगा के माध्यम से गांव में ही जरूरमंदों को रोजगार मुहैया करने के मामले में भी छत्तीसगढ़ देश का अग्रणी राज्य बना है। उन्होंने बताया कि रायपुर के समीप स्थित (amleshwar)अमलेश्वर में इससे पहले कभी भी मनरेगा के काम के लिए मजदूर नहीं मिलते थे। कोरोना संक्रमण और (lok down) लॉकडाउन के चलते आज अमलेश्वर इलाके के 500 ग्रामीण मनरेगा (manrega) में काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद ग्रामीणों और अन्य राज्यों से लौटे श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मुहैया कराना जरूरी है। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में खेती-किसानी को सुदृढ़ करने तथा किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए शुरू की गई राजीव गांधी किसान न्याय योजना के बारे में भी जानकारी दी और कहा कि संकट के इस दौर में यह योजना किसानों और खेती-किसानी के संबल बनी है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90