मंगलवार, 5 मई 2020

पेट्रॉल-डीजल की कीमतों में वृद्धि जनविरोधी:अनिल


नई दिल्ली। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने अरविन्द केजरीवाल सरकार के पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बड़ी वृद्धि को जनविरोधी करार देते हुए इसे तुरंत वापस लेने की मांग की है। चौधरी अनिल ने मंगलवार को प्रदेश कार्यालय राजीव भवन से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मीडिया को संबोधित करते हुए ईंधऩ की कीमतों में बढ़ोतरी को जनविरोधी करार दिया। उन्होंने कहा केजरीवाल सरकार के इस कदम से सबसे ज्यादा आम आदमी और छोटे दुकानदार प्रभावित होंगे। ईंधन के दामों विशेषकर डीजल की कीमतों में एकबार में इतनी वृद्धि मंहगाई बढायेगी जो कोरोना संकट से पहले ही बुरी तरह त्रस्त गरीब तबके के सामने और मुश्किलें खड़ी करेगा। सरकार को गरीब लोगों का ध्यान रखते हुए ईंधन के दाम में बढोतरी तुरंत वापस लेनी चाहिए।
गौरतलब है कि शराब के बाद दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दामों में बडी बढोतरी हुई है। पेट्रोल 1.67 और डीजल 7.10 रुपये प्रति लीटर मंहगा हो गया है। दिल्ली सरकार ने दोनों ईंधन पर मूल्यवर्धित कर (वैट) में खासी बढोतरी की है। पेट्रोल पर वैट 27 से बढाकर 30 प्रतिशत किया गया है। डीजल पर इसे 16.76 प्रतिशत से 30 प्रतिशत किया गया है। वैट में वृद्धि से राजधानी में डीजल के दाम बढकर 69.29 रुपये और पेट्रोल के 71.26 रुपये प्रति लीटर हो गए। ईंधन की बढी दरें तुरंत प्रभाव अर्थात मंगलवार से प्रभावी हो गई हैं। दिल्ली सरकार ने शराब पर भी 70 प्रतिशत का 'विशेष कोरोना शुल्कÓ लगा दिया है। यह आदेश आज से प्रभावी हो गया है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90