Top Ad 728x90

मंगलवार, 5 मई 2020

फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मियों की मदद के लिये आगे आया अमेजन


नई दिल्ली। कोरोना वायरस 'कोविड-19 के खिलाफ जंग में ई-कॉमर्स कंपनी अमेजऩ अपने विभिन्न उपक्रमों के माध्यम से और कई गैर-सरकारी संगठनों(एनजीओ) के साथ भागीदारी करके सामने आयी है। अमेजऩ ने दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा में कोरोना वायरस के संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित समुदायों और स्वास्थ्यकर्मियों को सहयोग के तौर पर हाइजीन किट, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण किट और किराने का सामान प्रदान किया है। इस दान का वितरण रीड इंडिया, अमेरिकन इंडिया फाउंडेशन और इंडिया एसटीईएम फाउंडेशन जैसे एनजीओ भागीदारों के माध्यम से किया जा रहा है। अमेजन इन एनजीओ और राज्य के विभागों के साथ मिल-जुलकर से काम कर रहा है, ताकि क्षेत्र की जरूरत का पता चल सके और दान सबसे जरूरतमंद लोगों तक पहुंचे।
अमेजऩ इंडिया के निदेशक (पब्लिक रिलेशंस) मिनारी शाह ने यहां एक बयान में कहा," हम अपने गठबंधन प्रयास के साथ समुदायों और देश के लिये मजबूती से खड़े हैं, जिससे कोविड-19 का प्रभाव सीमित हो और इसका फैलाव रुके। अपने सबसे कमजोर समुदायों की सुरक्षा करना हर राज्य के लिये एक चुनौती है जिनमें प्रवासी, स्वास्थ्यकर्मी और दैनिक वेतनभोगी श्रमिक शामिल हैं। पूरे देश के एकजुट होने से हम इस चुनौती से उबर पाएंगे और हमारा योगदान महामारी के विरुद्ध एकजुट होने का हमारा तरीका है। इस अवसर पर रीड इंडिया की 'कंट्रीÓ निदेशक गीता मल्?होत्रा ने कहा, " कोरोना के प्रभाव को नियंत्रित करने के लिये अमेजऩ की प्रतिबद्धता देखकर हमें खुशी हैं। अभी तो सबसे जरूरतमंद लोगों की पहचान करने की जरूरत है, खासकर वे, जो इस समय जीविका के लिये संघर्ष कर रहे हैं और हम ऐसे लोगों की पहचान करने के लिये सरकारी निकायों के साथ निरन्तर काम कर रहे हैं और अमेजऩ के सहयोग से हम उनकी मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा कर सकते हैं।
अमेजऩ ने दिल्ली-एनसीआर और हरियाणा में अपने भागीदारों के माध्यम से लगभग 15,000 बेसिक हाइजीन किट का दान किया है, जिनमें 3 प्लाई मास्क, साबुन, हैण्ड सेनिटाइजर और एन-95 मास्क हैं। यह सुनिश्चित करने के लिये सूखी राशन सामग्री वाली लगभग 2000 बेसिक ग्रॉसरी किट का वितरण भी किया गया। इन ग्रॉसरी किट से दैनिक वेतनभोगी श्रमिकों, प्रवासी और सूक्ष्म व्यवसाय मालिकों को लाभ हुआ है।

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90