सोमवार, 27 अप्रैल 2020

लॉक डाउन में फंसे जांजगीर जिले के श्रमिकों को भेजा गया घर


बलौदाबाजार। कोरोना लॉक डाउन के अंतर्गत जिले में फंसे जांजगीर-चाम्पा जिले के 24 श्रमिकों को आज उनके गांव-घरों के लिये रवाना किया गया। रवाना करने के पहले स्वास्थ्य परीक्षण से संतुष्ट होने के बाद उन्हें यात्री वाहन से भेजा गया है। उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने राज्य के भीतर फंसे हुये श्रमिकों को उनकी इच्छा के अनुरूप गृह जिले एवं गाँव भेजने की व्यवस्था करने जिला प्रशासन से कहा है। इस क्रम में जिला कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल के निर्देश पर एसडीएम एवं इंसिडेन्ट कमाण्डर सुश्री लवीना पांडेय द्वारा मज़दूरों के सकुशल घर वापसी के लिए तमाम इंतज़ाम किया गया । एसडीएम सुश्री पाण्डेय ने इस विषय में बताया कि बलौदाबाजार तहसील के अंतर्गत ये मज़दूर ग्राम ठेलकी में  विगत लगभग एक महीने से अस्थायी राहत शिविरों में ठहराये गये थे। जल संसाधन विभाग के अंतर्गत एक ठेकेदार द्वारा कराये जा रहे नहर लाइनिंग के कार्य में ये सब लगे हुये थे। राहत एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा ठेकेदार के सहयोग से बाकायदा शिविर में इनके लिए खाने-पीने एवं स्वास्थ्य परीक्षण की पुख्ता व्यवस्था की गई थी। शिविर में भी बिना कोई परेशानी के खुशी के साथ जीवन-यापन कर रहे थे। लाइनिंग कार्य में ये लोग कुली, मिस्त्री, वाहन चालक, सुपरवाइजर आदि विभिन्न कामों में लगे हुए थे। जांजगीर जिले के अंतर्गत ग्राम लच्छनपुर, हनुमन्ता, गिधौरी, कुघरीटार,सकरेली खुर्द, भातमाहुल, सोनगुढा एवं धमनी ग्राम के मज़दूर शामिल हैं।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90