बुधवार, 29 अप्रैल 2020

गुड्डी की सायकिल ठीक होने से काम-काज हुआ आसान


रायपुर। गुड्डी आज सुबह से ही बहुत खुश दिख रही थी। पता चला उसकी खराब साइकिल ठीक होने वाली थी। गुड्डी (तोमिना यादव) नारायणपुर से सटे गांव तेलसी की मजदूर लड़की है, जिसे मुख्यमंत्री साइकिल सहायता योजना के तहत साइकिल मिली है। शासन से मिली इसी साइकिल से वह समय पर मजदूरी स्थल पर पहुंचने के अलावा घर-बाहर की हर जरूरत का काम जंगल से सूखी लकड़ी लाना हो, रसोई गैस लाने के अलावा अपने घर-आंगन की बाड़ी की सब्जी-भाजी भी बाजार में बेचने का काम साइकिल से ही करती थी।
कुछ दिनों से उसकी साइकिल का पहिया खराब हो गया था। कोरोना वायरस के संक्रमण महामारी के चलते लॉकडाउन के कारण नारायणपुर सहित आसपास की सभी दुकानें बंद थी। सिर्फ जरूरी समान की दुकानें कुछ घंटों के लिए ही खुलती थी। लगता था कि जैसे पूरी दुनिया ठहर गई है। औरों की तरह मैं जिंदगी जीने और बसर करने के लिए कुछ समान लेने बाजार आया। देखा कि एक पेड़ के नीचे गुमटीनुमा छोटी साइकिल मरम्मत की दुकान खुली है। पास ही टूटी साइकिल के पास मुंह पर कपड़ा बांधे कोई खड़ा है। एक और चक्का (पहिया) ठीक करता मिस्त्री था। मन में उत्सुकता जागी मैं करीब पहुंच गया। अन्यास ही नाम पूछ लिया। गुड्डी (तोमिना यादव) नाम और मजदूरी का काम करना बताया। उक्त दिक्कतों का उसने पूछने पर जिक्र किया था।
    मैं भी बोल पड़ा कि सरकार द्वारा गरीब जरूरतमंदों की सुविधा और सहुलियत के लिए कुछ फैसले लिये है। जिससे आपका यह काम आसान हुआ। कुछ जरूरी दुकानें खुलने लगी है। अब छत्तीसगढ़ के साथ नारायणपुर के लोगों की जिन्दगी फिर से धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है। वहीं साइकिल, पंचर और छोटी पेट्रोल चलित वाहन मरम्मत के मिस्त्री भी काफी खुश है। उनकी दुकानें कई रोज से बंद थी। पैसों की तंगी भी धीरे-धीरे होने लगी थी। समय पर सरकारी निर्णय से शहर के ये छोटे-छोटे काम वाले लोग काफी खुश है। उनकी आर्थिक तंगी की समस्या भी दूर होने लगी है। कुछ लोगों ने इसके लिए सरकार को धन्यवाद भी दिया है।
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कुशल रणनीति और नितिगत फैसलों के कारण कोरोना जैसी महामारी को हम छत्तीसगढ़ में रोकने में कामयाब हो रहे है। शासन द्वारा गरीब जरूरतमंदों की जरूरत का ख्याल रखते हुए कुछ चीजों की दुकानें खोलने और कुछ निर्माण संबंधी राहत दी गई है। उन्हीं में से एक साइकिल पंचर, मोटर मेकेनिक, मोची, के साथ ही इलेक्ट्रिशियन, प्लम्बर, के साथ मनरेगा के काम और खेती-किसानी से जुड़े कार्यो में कुछ निर्देषों के साथ ठील दी गई है। उन्होंने लोगों से भी फिजिकल डिस्टेन्सिग (शारीरिक दूरी) का पालन करें तथा मास्क पहने के लिए अपील की है।
-

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90