गुरुवार, 5 मार्च 2020

एयर इंडिया की इंजीनियरिंग सेवा कंपनी करेगी जीटीएफ इंजनों का रखरखाव

नई दिल्ली। विमानों के लिए इंजन बनाने वाली कंपनी प्रैट एंड ह्विटनी ने देश में उसके जीटीएफ इंजनों के रखरखाव, मरम्मत और ओवरहॉलिंग के लिए सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया की इकाई एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेस लिमिटेड (एआईईएसएल) को चुना है। प्रैट एंड ह्विटनी के बिक्री उपरांत बाजार के उपाध्यक्ष जोए सिल्वेस्ट्रोन ने कहा, "हमारे हाई-टेक जीटीएफ इंजन का रखरखाव एआईईएसएल द्वारा करने के साथ हम भारत में अपने उपभोक्ताकओं के लिए अपनी वैश्विक एमआरओ क्षमता और दक्षता को मजबूत बनाने को लेकर काफी उत्साहित हैं। भारत में हवाई यात्रा की निरंतर बढ़ती माँग के मद्देनजर हम भारतीय विमानन क्षेत्र की वृद्धि के लिए तत्पर हैं। जीटीएफ इंजनों के रखरखाव के लिए एआईईएसएल मुंबई स्थित अपने केंद्र में चरणबद्ध तरीके से अपनी सेवायें शुरू करेगी। फिलहाल वहाँ इंजन अपग्रेड और मॉडयूल एक्सेचेंज की सुविधायें उपलब्ध करायी गयी हैं। एआईईएसएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एच.आर. जगन्नाथ ने कहा "जीटीएफ इंजन के लिए हम तैयार हैं और यह हमारे लिए एक रोमांचक समय है। कंपनी पिछले 50 वर्षों से एयर इंडिया और अन्य विमान सेवा कंपनियों को इंजन एमआरओ सेवायें उपलब्ध करा रही है। प्रैट एंड ह्विटनी के साथ हमारी भागीदारी बहुत पुरानी है। जीटीएफ इंजन हमें अपनी क्षमताओं को प्रदर्शित करने और एआईईएसएल को एशिया में प्रमुख इंजन एमआरओ में से एक के रूप में स्थाएपित करने का अवसर प्रदान करता है। प्रैट एंड ह्विटनी इंजन वाले 700 विमान वर्तमान में देश में हैं। इनमें से 150 से अधिक विमान जीटीएफ इंजन वाले ए320 नियो परिवार के हैं।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90