बुधवार, 19 फ़रवरी 2020

दो-तीन वर्षों तक इसी क्षमता के साथ खेल सकता हूं : विराट

वेलिंगटन। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली का मानना है कि व्यस्त कार्यक्रम के बीच नियमित रूप से आराम करने से उन्हें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों के अलावा आईपीएल खेलने में भी मदद मिली है और वह अगले दो-तीन वर्षों तक इसी क्षमता के साथ खेल सकते हैं। विराट ने यहां न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू होने वाली दो मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले बुधवार को पत्रकारों से यह बात कही।
भारतीय कप्तान ने कहा, " मैं पिछले आठ या नौ वर्षों से लगातार एक साल में करीब 300 दिन क्रिकेट खेल रहा हूं, जिसमें यात्रा और अभ्यास सत्र भी शामिल है। हमेशा आपको पूरी क्षमता के साथ प्रदर्शन करना होता है जिसका असर स्वाभाविक रूप से आप पर पड़ता है। यह उतना आसान नहीं होता। विराट ने कहा कि कई खिलाड़ी इस बारे में सोचते हैं। व्यस्त कार्यक्रम के बावजूद व्यक्तिगत तौर पर हम नियमित रूप से समय निकालकर आराम करते हैं। निकट भविष्य में मेरे अलावा कई अन्य खिलाड़ी जो क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खेल रहे हैं वे भी ऐसा तरीका अपना सकते हैं। विराट ने कहा, "कप्तान के तौर पर आपको अभ्यास सत्र के दौरान पूरी क्षमता के साथ खेल के लिए रणनीति बनानी होती है जिसका असर आप पर पड़ता है। इसलिए व्यस्त कार्यक्रम के बीच नियमित रूप से आराम करने से मुझे बेहतर प्रदर्शन करने में मदद मिलती है। हर समय आपकी शारीरिक क्षमता एक जैसी नहीं रहती है। मैं जब 34 अथवा 35 वर्ष का हो जाऊंगा तो परिस्थितियां कुछ और होंगी, लेकिन अगले दो-तीन वर्षों तक मैं इसी क्षमता के साथ खेल सकता हूं, मुझे कोई परेशानी नहीं है। भारतीय कप्तान ने कहा, "मैं अगले दो-तीन वर्षों तक इसी लय के साथ खेल सकता हूं और टीम को मेरी काफी जरुरत भी है ताकि हम आसानी से आने वाले बदलाव के दौर से गुजर सकें। इसके मद्देनजर मैं अगले दो-तीन वर्षों के लिए खुद को तैयार कर रहा हूं। विराट अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सबसे व्यस्त क्रिकेटरों में से एक हैं और कई बार उन्होंने क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में खेलने वाले भारतीय खिलाडिय़ों की व्यस्तता को कम करने पर जोर दिया है। गौरतलब है कि नवंबर 2019 में बंगलादेश के खिलाफ ट्वंटी-20 सीरीज में विराट को आराम दिया गया था। इसके अलावा विश्व कप के बाद वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में भी नियमित कप्तान विराट को विश्राम दिया गया था।
दक्षिण अफ्रीका, बंगलादेश, श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ लगातार एक के बाद एक घरेलू सीरीज के बाद भारतीय टीम यहां न्यूजीलैंड के दौरे पर आई है। भारत ने मेजबान न्यूजीलैंड को ट्वंटी-20 सीरीज में 5-0 से करारी शिकस्त दी थी जबकि वनडे सीरीज में उसे 3-0 से हार का सामना करना पड़ा था। विराट ने न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार से शुरू हो रही दो मैचों की टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया की तैयारियों का जिक्र करते हुए कहा, "यह मायने नहीं रखता कि विपक्षी टीम के पास कितना संयम है, हमें उनसे अधिक संयम दिखाना होगा। हमारी फिटनेस और एकाग्रता का स्तर ऐसा है कि हम किसी भी टीम के खिलाफ कहीं भी खेल कर कड़ी चुनौती पेश कर सकते हैं। भारतीय कप्तान ने कहा कि टीम के खिलाड़ी मैच की परिस्थिति के मुताबिक खेलेंगे न कि किसी भी पूर्वाग्रह के अनुसार। न्यूजीलैंड की टीम के पास काफी शानदार बल्लेबाज और गेंदबाज के अलावा बेहतर क्षेत्ररक्षक भी हैं इसलिए हमें अच्छे मौकों पर विकेट लेने होंगे और रन बनाने होंगे। विराट ने कहा कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप ने टेस्ट क्रिकेट को और अधिक रोचक बना दिया है। प्रत्येक टीम लाड्र्स मैदान पर खेले जाने वाले इस चैैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचना चाहती है और हम भी ऐसा ही चाहते हैं। वेलिंगटन टेस्ट में सलामी जोड़ी को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में विराट ने कहा, "पृथ्वी काफी प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं और उनका खेलने का अपना तरीका है। हम चाहते हैं कि वह अपनी शैली के मुताबिक ही खेलें। मयंक ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया था और उम्मीद है कि वह इसे दोहरा पाएंगे। 

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90