Your Ads Here

राज्य स्तरीय युवा महोत्सव : युवा प्रतिभाओं ने पूरे प्रदेश में राजनांदगांव जिले का परचम लहराया

सबसे अधिक 20 पदक जीत कर किया जिले का नाम रौशन

रायपुर। राजनांदगांव जिले के युवा प्रतिभाओं ने राजधानी रायपुर में आयोजित राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में कला-संस्कृति और पारंपरिक खेलों की विभिन्न विधाओं में पूरे प्रदेश में जिले का परचम लहराया। इन युवा प्रतिभाओं ने अपने हुनर का श्रेष्ठ प्रदर्शन करके प्रदेश में जिले का नाम रौशन किया है। महोत्सव में राजनांदगांव जिले को सबसे अधिक 20 पदक प्राप्त हुए। इनमें 8 स्वर्ण पदक, 4 रजत पदक और 8 कास्य पदक शामिल हैं। जिले के युवाओं ने 8 विधाओं में सामूहिक एवं व्यक्तिगत रूप से प्रथम स्थान प्राप्त किया।
वन मंत्री तथा जिले के प्रभारी श्री मोहम्मद अकबर ने सभी पदक विजेता युवा प्रतिभाओं को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए उनके उवल भविष्य की कामना की है। श्री अकबर ने कहा है कि राजनांदगांव जिले के युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं है। वे अवसर मिलने पर कला, संस्कृति, खेल-कूद की गतिविधियों में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं। राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में राजनांदगांव जिले को सबसे अधिक पदक प्राप्त हुए हैं। जो इस बात को साबित करती है। कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने भी विजेताओं सहित सभी प्रतिभागियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। उल्लेखनीय है कि राज्य स्तरीय युवा महोत्सव का आयोजन 12 जनवरी से 14 जनवरी 2020 तक रायपुर के सांइस कॉलेज परिसर, पं. दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम, विज्ञान महाविद्यालय ऑडिटोरियम एवं पं. रविशंकर विश्वविद्यालय प्रेक्षागृह में किया गया।
महोत्सव में 15 से 40 और 40 वर्ष से अधिक इस प्रकार 2 आयु वर्ग में कला, संस्कृति और छश्रीसगढ़ के परम्परागत खेलों में प्रतियोगिताएं हुई। 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग के भौंरा चालन में राजनांदगांव जिले के युवाओं का कोई मुकाबला नहीं कर सके। इस वर्ग में महिला एवं पुरूष दोनों में ही राजनांदगांव जिले को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। भौंरा पुरूष 15 से 40 वर्ष वर्ग में देव कुमार ने प्रथम तथा भौंरा महिला 15 से 40 वर्ष वर्ग में कुमारी काजल ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। लोक गीत गायन 15 से 40 वर्ष मे भी राजनांदगांव के प्रतिभागी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर प्रथम स्थान पर रहे। शास्त्रीय गायन हिन्दुस्तानी शैली में श्री किशन प्रकाश ने अपनी श्रेष्ठता साबित कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार देवेश कुमार कंवर के तबले की थाप से कोई थाप नहीं मिला सका और उन्हें 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग के तबला वादन में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ। लोक नृत्य 40 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में भी राजनांदगांव के कलाकार प्रथम रहे। खो-खो महिला 15 से 40 वर्ष वर्ग में सबसे अधिक अंक लेकर राजनांदगांव जिले की टीम प्रथम स्थान पर रही। श्री कविलाश मलामे बांसुरी में सुमधुर तान प्रस्तुत कर बांसुरी वादन 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग में प्रथम स्थान पर रहे।   महोत्सव में राजनांदगांव जिले के कलाकारों ने कर्मा नृत्य 40 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में तृतीय स्थान, एकांकी नाटक 15 से 40 वर्ष वर्ग में तृतीय स्थान, निबंध 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग में विजय कुमार देवांगन को तृतीय स्थान मिला। खो-खो पुरूष 15 से 40 वर्ष वर्ग में तृतीय, कबड्डी पुरूष 40 वर्ष से अधिक वर्ग में द्वितीय, सुआ नृत्य 15 से 40 वर्ष वर्ग में तृतीय स्थान मिला। कत्थक नृत्य 15 से 40 वर्ष वर्ग में रानी सिंह को द्वितीय, ओडि़सी नृत्य 15 से 40 वर्ष वर्ग में माधुरी पुरामे को द्वितीय, भरतनाट्यम 15 से 40 वर्ष वर्ग में कीर्ति बाला पटेल को तृतीय, वाद-विवाद 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग में नावेश चंद्र साहू तृतीय, गेंड़ीदौड़ महिला वर्ग 15 से 40 वर्ष वर्ग में रेणुका वर्मा को द्वितीय तथा भौंरा पुरूष 40 वर्ष से अधिक वर्ग में कीर्तन पटेल को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।
राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में जिले के सभी विकासखंडों से 156 पुरूष और 133 महिला कुल 289 प्रतिभागी शामिल हुए। नोडल अधिकारी, पीटीआई, कोच, मैनेजर, अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों  को मिलाकर राजनांदगांव जिले की टीम ने 339 सदस्य थे। राजनांदगांव दल को लेजाने, लाने व भोजन आदि की व्यवस्था में डीएसपी ऑपरेशन राजनांदगांव श्री रमेश एरेवार तथा अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत राजनांदगांव श्री दिलीप कुमार कुर्रे का विशेष सहयोग रहा। 

No comments

Powered by Blogger.