सोमवार, 13 जनवरी 2020

लड़ाकू हेलिकॉप्टर अपाचे और चिनुक हेलिकॉप्टरों की गूंज सुनाई देगी राजपथ पर

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस परेड में इस बार राजपथ पर पहली बार लड़ाकू हेलिकॉप्टर अपाचे और भारी भरकम सामान ले जाने में सक्षम चिनुक हेलिकॉप्टरों की गर्जन सुनाई देगी। फ्रांस से खरीदे गये लड़ाकू विमान राफेल की झलक भी उसके मॉडल के तौर पर वायु सेना की झांकी में दिखायी देगी। ये दोनों ही हेलिकॉप्टर अमेरिका से खरीदे गये हैं और बीते वर्ष ही इन्हें वायु सेना के बेड़े में शामिल किया गया था।
वायु सेना के ग्रुप कैप्टन ए आर टम्टा ने आज यहां संवाददाताओं को बताया कि परेड के फ्लाई पास्ट में वायु सेना के 41 विमान और हेलिकॉप्टर तथा सेना की हवाई शाखा के चार हेलिकॉप्टर हिस्सा लेंगे। इनमें 16 लड़ाकू विमान, 10 मालवाहक विमान और 19 हेलिकॉप्टर होंगे। गणतंत्र दिवस समारोह की शुरूआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि देने के साथ होगी। परेड की शुरूआत राजपथ पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने और राष्ट्रपति को राष्ट्रीय सलामी के साथ होगी। वायु सेना के फ्लाइंग अफसर अमन राजपथ पर राष्ट्रीय ध्वज फहरायेंगे।
वायु सेना की मारक क्षमता का प्रदर्शन करने के लिए राजपथ पर उसकी झांकी में लड़ाकू विमान राफेल, देश में ही बने हल्के लड़ाकू विमान तेजस, हल्के लड़ाकू हेलिकॉप्टर , सतह से हवा में मार करने वाली आकाश मिसाइल प्रणाली और अस्त्र मिसाइल के मॉडल दिखाई देंगे। राफेल दो इंजन वाला अत्याधुनिक बहुउद्देशीय लड़ाकू विमान है। इसे फ्रांस से खरीदा गया है और इसे वायु सेना की जरूरतों के अनुरूप हथियार तथा विशेष प्रौद्योगिकी से लैस किया गया है। फ्रांस से कुल 36 राफेल विमान खरीदे जाने हैं जिनमें से चार वायु सेना को मिल गये हैं जो इस वर्ष में भारत आयेंगे। वायु सेना ने अमेरिकी कंपनी बोइंग से 22 अपाचे हेलिकॉप्टरों की खरीद का 2015 में अनुबंध किया था जिनमें से 17 हेलिकॉप्टर उसे मिल गये हैं। अमेरिका से ही खरीदे जाने वाले 15 चिनुक हेलिकॉप्टरों में से 10 वायु सेना को मिल गये हैं। सेना ने भी 6 अपाचे हेलिकॉप्टरों की खरीद के लिए सौदा किया था।
परेड के दौरान फ्लाइ पास्ट दो चरणों में होगा। फ्लाइ पास्ट की शुरूआत चार एमआई-17 वी 5 हेलिकॉप्टरों से होगी। इस दौरान अपनी क्षमता का प्रदर्शन करने वाले लड़ाकू विमानों और हेलिकॉप्टरों में जगुआर, मिग -29 अपडेट, सुखोई, अपाचे, चिनुक, सी -17 ग्लोबमास्टर और सी 130 जे सुपर हरक्युलिस आदि शामिल हैं। परेड के अंत में सुखोई 30 लड़ाकू विमान सलामी मंच के सामने वर्टिकल चार्ली मुद्रा में सलामी देगा। वायु सेना के मार्चिंग दस्ते में चार अधिकारी और 144 वायुसैनिक शामिल होंगे। दस्ते का नेतृत्व फ्लाइट लेफ्टिनेंट श्रीकांत शर्मा करेंगे।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90