गुरुवार, 23 जनवरी 2020

गणतंत्र दिवस परेड में सेना दस्ते की कमान तानिया शेरगिल संभालेंगी

नई दिल्ली। देश में इस वर्ष मनाए जा रहे 71वें गणतंत्र दिवस की सैन्य परेड की अगुवाई सेना सिग्नल कोर की अधिकारी कैप्टन तानिया शेरगिल करेंगी और परेड में ट्रांसपोर्टेबल सेटेलाइट टर्मिनल व्हीकल की कमान मेजर शीना नायर के हाथों में होगी। दिल्ली क्षेत्र के चीफ आफॅ स्टाफ (सीओएस) मेजर जनरल अशोक कक्कड़ ने गुरूवार को गणतंत्र दिवस 2020 मीडिया प्रिव्यू में संवाददाताओं को बताया कि इस बार गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर मेरियोस बोलसोनारो होंगे और राष्ट्रपति के कार्यकाल में उनकी यह पहली भारत यात्रा होगी।
इस बार पहली बार सेना का वायु रक्षा दस्ता, अतुल्य राडार, पैराशूट दस्ता, धनुष 45 कैलिबर आर्टिलरी गन, के9, वज्र टी और सेना के दस्ते की कमान कैप्टन तानिया शेरगिल तथा सिगनल कोर ट्रांसपोर्टेबल सेटेलाइट टर्मिनल (टीएसटी) व्हीकल की कमान 21 सिगनल ग्रुप की मेजर शीना नायर परेड के मुख्य आकर्षण होंगे। इस बार की परेड में कुल 16 मार्चिंग दस्ते होंगे और इनमें सेना , वायु सेना, नौसेना, अद्र्धसैनिक बलों के अलावा दिल्ली पुलिस और एनसीसी के दस्ते भी हिस्सा लेंगे। इसमें 22 राज्यों की झांकियां भी शामिल की जांएगी और राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित 44 बच्चे भी गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होंगे। इसके अलावा चार स्कूलों के बच्चे सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करेंगे। परेड में 21 बैंड़ हिस्सा लेंगे और इनमें 13 सैन्य बैंड के दस्ते होंगे। यह परेड 90 मिनट की अवधि की होगी और पूर्वाह्न 10 बजे शुरू होकर साढ़े 11 बजे तक चलेगी।
परेड में सेना वायु सुरक्षा कोर परेड दस्ते की अगुवाई कैप्टन विकास कुमार साहू करेंगे परेड में सिगनल कोर ट्रांसपोर्टेबल सेटेलाइट टर्मिनल (टीएसटी) व्हीकल की कमान 21 सिगनल ग्रुप की मेजर शीना नायर के हाथों में होंगी। वह मीटर एयर रायफल इवेंट में राष्ट्रीय चैम्पियन रह चुकी हैं। इन टर्मिनल का विकास गजियाबाद स्थित भारत इलैक्ट्रानिक्स लिमिटेड ने किया है। इस वर्ष की परेड में पैराशूट रेजिमेंट चार वर्ष के बाद हिस्सा लेगी और इसकी कमान कमांडर निखिल कुमार मौर्या और मेजर तरूण के हाथों में होंगी। परेड में सेना के ग्रेनेडियर दस्ते की की अगुवाई मेजर अनिरुद्ध नायर करेंगे। इस दस्ते को 'स्ट्रोम ट्रूपर" कहा जाता है जो किसी भी लडाई में दुश्मन के बीच अपने खास हथियार से तबाही मचा देते हैं। परेड में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल का महिला दस्ता मोटरसाइकिल पर अपने करतब दिखाएगा। इसमें वायु सेना के सी- 17 ग्लोबमास्टर यातायात हेलीकाप्टर के अलावा वायु सेना के अपाचे और शिन्हुक लडाकू हेलीकाप्टर पहली बार हिस्सा लेेंगे।
155एम.एम./45 कैलिबर आर्टिलरी गन "धनुष" भारत सरकार के 'मेक इन इंडियाÓ प्रोजेक्ट के अंतर्गत आयुध निर्माणी बोर्ड द्वारा स्वदेशी आधार पर विकसित प्रोजेक्ट 'धनुषÓ की आधारशिला आयुध निर्माणी बोर्ड एवं भारतीय आर्टिलरी कोर द्वारा सह विकास को ध्यान में रखकर की गई। भारतीय सशस्त्र सेनाओं के लिए दक्ष, विश्वसनीय एवं उनके अनुकूल गन सिस्टम बनाने के लिए प्रयसों की सहभागिता ने नयी ऊंचाइयाँ प्रदान की हैं। आधुनिकतम नेवीगेशन तथा पोजिशनिंग सिस्टम के साथ मजबूत डिजाइन तथा स्वचालन की क्षमता 'धनुषÓ तोप को अतिशीघ्र निर्धारित स्थिति में लाने एवं दिन और रात में लक्ष्य भेदने की क्षमता प्रदान करती है। धनुषÓ तोप ने विभिन्न स्थानों और जलवायु की स्थिति में स्वयं को सिद्ध किया है तथा 4500 से ज्यादा राउंड फायर किए हैं। नि:संदेह ही यह दुनिया में नवीनतम होने के साथ-साथ एक विश्वसनीय और मजबूत गन सिस्टम के रूप में उभरी है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90