गुरुवार, 30 जनवरी 2020

जामिया में मार्च के दौरान बाहरी शख्स ने चलाई गोली, एक छात्र घायल

नई दिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों ने गुरुवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि स्थल राजघाट जाने के लिए जैसे मार्च निकाला वैसे ही कैम्पस से चंद कदमों की दूरी पर पुलिस के सामने अचानक एक शख्स पिस्तौल लहराता हुआ आया और भीड़ पर गोली चला दी जिससे एक छात्र घायल हो गया। पुलिस ने बताया है कि गोली चलाने वाले छात्र को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। जांच के बाद ही साफ हो पाएगी की गोली चलाने वाला शख्स कहाँ से आया। पुलिस ने फिलहाल गोली चलाने वाले की पहचान बताने से बच रही है। जामिया की एक शोधार्थी छात्रा शफूरा ने कहा कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से भेजकर यहां के शांतिपूर्ण माहौल को खराब करने की कोशिश की गई है। पुलिस के सामने युवक ने जिस प्रकार बेखौफ होकर गोली चलाई है, उससे पुलिस की कार्य प्रणाली पर कई प्रकार से सवाल उठते हैं। पुलिस से चंद कदमों से दूर आरोपी पिस्तौल लहराता रहा और पुलिस मूकदर्शक बनी रही।
गोली शादाब नामक छात्र को गोली लगी है, वह जामिया मास कम्युनिकेशन का छात्र है। उसे होली फैमिली अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस घटना के बाद छात्रों ने कुछ देर के लिए मार्च रोक दिया और उसके बाद मार्च आगे की ओर बढ़ा, जिसे होली फैमिली के पास रोक दिया गया। छात्र होली फैमिली के पास सड़क पर छात्र बैठकर प्रदर्शन कर रहे हैं और दिल्ली पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर रहे हैं। जामिया शिक्षक संघ ने इस घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि पुलिस के सामने जिस प्रकार की घटना हुई है, वह हैरान करने वाली है। जामिया के विद्यार्थी 15 दिसम्बर को हुई पुलिस बर्बरता और नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ पिछले डेढ़ माह से प्रदर्शन कर रहे हैं। जामिया को-आर्डिनेशन कमेटी की ओर से आज राजघाट तक मार्च निकालने का आह्वान किया था हालांकि पुलिस ने मार्च करने की अनुमति नहीं दी थी। इस घटना के बाद हजारों की संख्या में विद्यार्थी और स्थानीय लोग होली फैमिली से लेकर जामिया तक सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90