मंगलवार, 31 दिसंबर 2019

,

चालू खाते का घाटा दूसरी तिमाही में कम होकर 0.9% रहा: आरबीआई

मुंबई। चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई से सितंबर 2019) के दौरान चालू खाते का घाटा कम होकर सकल घरेलू उत्पाद का 0.9 प्रतिशत रह गया। एक साल पहले इसी अवधि में यह जीडीपी के मुकाबले 2.9 प्रतिशत पर था। रिजर्व बैंक द्वारा जारी आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। इसमें कहा गया है कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के अंत में चालू खाते का घाटा कम होकर 0.9 प्रतिशत यानी 6.3 अरब डॉलर रह गया, जबकि एक साल पहले इसी अवधि में यह 2.9 प्रतिशत या 19 अरब डॉलर रहा था। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही (अप्रैल से जून 2019) में यह घाटा जीडीपी के दो प्रतिशत यानी 14.2 अरब डॉलर पर रहा था। रिजर्व बैंक ने यहां जारी विज्ञप्ति में कहा, 'कैड में आई यह कमी प्राथमिक तौर पर 38.1 अरब डॉलर के निम्न व्यापार घाटे की वजह से है। एक साल पहले व्यापार घाटा 50 अरब डॉलर की ऊंचाई पर था। चालू वित्त वर्ष की पहली छमाही की यदि बात की जाए तो चालू खाते का घाटा सकल घरेलू उत्पाद के 1.5 प्रतिशत यानी 84.3 अरब डॉलर रह गया, जबकि पिछले वित्त वर्ष 2018-19 की पहली छमाही में यह 2.6 प्रतिशत यानी 95.8 अरब डॉलर रहा था।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90