Your Ads Here

आम जनता की समस्या को गंभीरता से सुनें, पीडि़तों को दिलाएं न्याय: राज्यपाल

भारतीय पुलिस सेवा के परीवीक्षाधीन अधिकारियों ने की राज्यपाल से भेंट

रायपुर। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से आज यहां राजभवन में भारतीय पुलिस सेवा-2018 बैच के परीवीक्षाधीन अधिकारियों ने उप पुलिस महानिरीक्षक और छत्तीसगढ़ पुलिस अकादमी चन्द्रखुरी की संचालक श्रीमती नेहा चंपावत के नेतृत्व में सौजन्य मुलाकात की।
राज्यपाल सुश्री उइके ने भारतीय पुलिस सेवा के परीवीक्षाधीन अधिकारियों से कहा कि वे आम जनता की समस्याओं को गंभीरता से सुनें और पीडि़त व्यक्ति को न्याय दिलाएं। उन्होंने कहा कि वे अपने कत्र्तव्यों का निर्वहन पूरी निष्ठा और बेहतर ढंग से करें। राज्यपाल ने कहा कि वे आम जनता के बीच सकारात्मक छवि बनाएं और दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही करें। शासकीय सेवा के दौरान किये गए अच्छे कार्य को वहां की जनता सदैव याद रखती है। सुश्री उइके ने अपने जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग द्वारा किए गए प्रावधानों का पालन करने और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के प्रकरणों में सावधानीपूर्वक कार्य करने की आवश्यकता बताई।
छत्तीसगढ़ पुलिस अकादमी चन्द्रखुरी की संचालक श्रीमती चंपावत ने बताया कि परीवीक्षाधीन अधिकारियों के लिए 06 माह के प्रशिक्षण का कार्यक्रम है। उन्होंने बताया कि करीब एक माह प्रशिक्षण पूर्ण हो गया है और अगले माह उन्हें बस्तर और सरगुजा क्षेत्रों में प्रशिक्षण के लिए भेजा जाएगा। इसके बाद इन्हें प्रशिक्षण के लिए हैदराबाद भी भेजे जाएंगे। 

No comments

Powered by Blogger.