Your Ads Here

दिल्ली में लोगों को लुभा रहे हैं छत्तीसगढ़ के हस्तशिल्प और हथकरघा उत्पाद

छत्तीसगढ़ी व्यंजनों और मसालों के भी लगाए गए हैं स्टाल

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री टी.सी. महावर ने किया स्टॉलों का अवलोकन
रायपुर। नई दिल्ली में इंडिया गेट पर आयोजित राष्ट्रीय सरस मेले में छत्तीसगढ़ के हस्तशिल्प और हथकरघा उत्पाद लोगों को लुभा रहे हैं। वहां छत्तीसगढ़ी व्यंजनों और मसालों के भी स्टॉल लगाए गए हैं। पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव श्री टी.सी. महावर ने 21 अक्टूबर को वहां प्रदेश के आठ स्टॉलों का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने हस्तशिल्पियों और कारीगरों से बात कर इन उत्पादों की बिक्री एवं लोगों की प्रतिक्रियाओं की जानकारी ली।

नई दिल्ली में 10 अक्टूबर से शुरू राष्ट्रीय सरस मेला 23 अक्टूबर तक चलेगा। वहां देश के सभी राज्यों के स्टॉल लगे हुए हैं। इसका आयोजन राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा किया गया है। प्रदेश के बिहान स्वसहायता समूह द्वारा यहां छत्तीसगढ़ी व्यंजनों की बिक्री की जा रही है, जिन्हें मेला देखने आने वाले और खरीदार काफी पसंद कर रहे हैं। यहां कोरिया जिले के किसानों द्वारा उत्पादित विभिन्न प्रकार के मसाले भी बेचे जा रहे हैं। सरस मेले में बेल मेटल, लौह शिल्प, टेराकोटा और काष्ठ शिल्प उत्पादों के साथ ही हथकरघा से बने वस्त्र प्रदर्शन-सह-विक्रय के लिए रखे गए हैं।

No comments

Powered by Blogger.