Top Ad 728x90

शनिवार, 28 सितंबर 2019

,

प्रक्रिया पूरी होने के बाद 2017 की आरक्षक भर्ती परीक्षा निरस्त


  •  2259 पदों पर अभिमत के बाद पीएचक्यू ने किया केंसिल
  •  भर्ती निरस्त होने पर नेता प्रतिपक्ष ने कहा- बेरोजगारों के साथ नाइंसाफी

रायपुर।  पुलिस मुख्यालय ने भाजपा शासनकाल में हुई पुलिस की भरती को निरस्त कर दिया है। 2259 पदों के लिए 2017 में भरती हुई थी। इसके रिजल्ट निकालने के लिए अभ्यार्थियों द्वारा लंबे समय से आंदोलन किया जा रहा था। लेकिन, पीएचक्यू ने भर्ती निरस्त कर उन्हें झटका दे दिया है।
जारी आदेश में बताया गया कि 29 दिसंबर 17 को विभाग की ओर से जिला पुलिस बल में 2259 आरक्षकों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया गया था। इन पदों पर भर्ती के लिए छत्तीसगढ़ पुलिस कार्यपालिक बल आरक्षक (भर्ती तथा सेवा की शर्ते) नियम 2007 में संशोधन संबंधी 21 फरवरी 18 के तहत भर्ती प्रक्रिया हुई। विधि विभाग ने 29 जुलाई 19 को अभिमत दिया है कि इस भर्ती नियम के आधार पर आरक्षकों की नियुक्ति को वैध नहीं होगी, जिसको ध्यान में रखते हुए आरक्षकों की इस भर्ती प्रक्रिया को निरस्त किया जाता है।
ज्ञातव्य हो कि छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग द्वारा 2017-18 में आरक्षक भर्ती परीक्षा आयोजित की गयी थी, जिसका रिजल्ट जारी नहीं किया गया था। इसी मांग को लेकर प्रदेश भर से आये आवेदकों ने राजधानी के इदगाह भाटा मैदान में धरना दिये थे। साथ ही मामले को लेकर आवेदकों ने हाईकोर्ट में याचिका भी लगाई थी, लेकिन कई दिन बीत जाने के बाद भी विभाग द्वारा रिजल्ट जारी नहीं किया गया तब इसी मांग को लेकर सैकड़ों की संख्या में आवेदकों ने राजधानी में प्रदर्शन किया था।

0 टिप्पणियाँ:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90