सोमवार, 23 सितंबर 2019

, ,

पोलिंग बूथ से 200 मीटर दूर आईईडी, फिर भी मतदान को लेकर जबरदस्त उत्साह





  • छत्तीसगढ़ में नक्सल प्रभावित गांव गमावाड़ा में मतदान को लेकर जबरदस्त उत्साह देखा जा रहा है।

  • छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, केरल, त्रिपुरा में चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में मतदान आज, 27 अक्टूबर को मतगणना होगी
  • दंतेवाड़ा में भाजपा विधायक भीमा मंडावी नक्सली हमले में हत्या के बाद खाली हुई थी सीट
  • हमीरपुर से भाजपा विधायक अशोक चंदेल को सामूहिक नरसंहार मामले में सजा होने के बाद उनकी सदस्यता रद्द की गई


रायपुर/लखनऊ। छत्तीसगढ़-उत्तरप्रदेश (Chhattisgarh-Uttarpredesh) समेत चार राज्यों की चार विधानसभा सीटों (Assembly seats) में सोमवार सुबह से मतदान (Voting) चल रहा है। छत्तीसगढ़ की नक्सल प्रभावित सीट दंतेवाड़ा सीट के कटेकल्याण इलाके के परचेली पोलिंग बूथ से 200 मीटर दूर सुरक्षाबलों ने आईईडी (IED) बरामद किया है। माना जा रहा है कि मतदान को प्रभावित करने के लिए नक्सलियों की साजिश को नाकाम किया है। दंतेवाड़ा में सुबह से ही वोटिंग को लेकर मतदाताओं में उत्साह देखा जा रहा है। छत्तीसगढ़ की दंतेवाड़ा (Dantewada) , केरल की पाला (Pala), त्रिपुरा की बाधरघाट (Badharghat) और उत्तरप्रदेश की हमीरपुर (Hameerpur) सीट पर उपचुनाव है। चारों सीटों पर मतगणना 27 सितंबर को होगी। दंतेवाड़ा में भाजपा विधायक भीमा मंडावी (Bhima Mandawi) की नक्सली हमले में हत्या के बाद सीट खाली हुई थी। भाजपा विधायक अशोक चंदेल को सामूहिक नरसंहार मामले में उम्र कैद की सजा सुनाई गई थी। जिसके बाद हमीरपुर सीट से उनकी सदस्यता रद्द कर दी गई थी।

  • छत्तीसगढ़ में पीठासीन अधिकारी की तबीयत बिगडऩे से मौत

दंतेवाड़ा के कटेकल्याण (Katekalyan) इलाके के चिकपाल पोलिंग बूथ में तैनात पीठासीन अधिकारी (Presiding Officer) चंद्रशेखर ठाकुर की मौत हो गई। चंद्रशेखर की सुबह से ही तबीयत बिगड़ रही थी। मतदान शुरू होते ही उनकी तबीयत ज्यादा ही खराब हो गई थी। वहीं, उत्तरप्रदेश की हमीरपुर विधानसीट पर सुबह 9 बजे तक 5.60 फीसदी मतदान हो चुका। यहां सुबह शुरुआत में 14 बूथों पर ईवीएम में खराबी सामने आई। बाद में सभी मशीनों को बदल दिया गया। नक्सल प्रभावित जिले दंतेवाड़ा विधानसभा के उपचुनाव के लिए मतदान अपराह्न 3 बजे तक चलेगा। चुनाव को शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जिले में 15 हजार जवानों की तैनाती की गई है। मतदान के लिए 273 पोलिंग बूथ (Poling Booth) बनाए गए हैं, जहां पर 1.88 लाख से ज्यादात मतदाता अपने अधिकारों का प्रयोग करेंगे। खास बात यह है कि धुर नक्सल प्रभावित गांवों या नक्सलगढ़ के गांवों में भी 4500 मतदाता हैं, जो हर बार नई आस के साथ अपने मताधिकार का इस्तेमाल करते रहे हैं। दंतेवाड़ा उपचुनाव में एक निर्दलीय समेत 9 प्रत्याशी मैदान में हैं। हालांकि मुख्य मुकाबला कांग्रेस की देवती कर्मा (Devati Karma) और भाजपा की ओजस्वी मंडावी (Ojasvi Mandavi) के बीच ही है। ओजस्वी जहां भाजपा के दिवंगत विधायक भीमा मंडावी की पत्नी हैं, वहीं देवती कर्मा पूर्व विधायक होने के साथ ही कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे बस्तर टाइगर दिवंगत महेन्द्र कर्मा की पत्नी हैं। दोनों के पतियों ने नक्सली हमले में ही अपनी जान गंवाई है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90