Your Ads Here

स्वास्थ्य विभाग 24 घंटे के अलर्ट पर : चमकी बुखार को लेकर बरती जा रही विशेष सावधानी




जिले में 24 सेक्टर स्तरीय टीम गठित
रायपुर । मौसम में तेजी से आ रहे बदलाव के बीच स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर आ चुकी है। विभाग ने सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकाारियों के साथ ही वरिष्ठ अधिकारियों को सजग रहने तथा 24 घंटे अलर्ट रहकर मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिए हर संभव उपाय करने का निर्देश जारी किया है। इसके अलावा सभी अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में दवाईयां उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है। इसके लिए सीएमएचओ कार्यालय से प्रत्येक ब्लॉकों में 6 टीम सेक्टर स्तर पर गठित की गई है। एक सेक्टर में प्राथमिक स्वास्थ केंद्र, उप प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रखा गया है, जिसमें आरएमओ, स्टाफ नर्स, पैरा मेडिकल स्टाफ, आरएचओ, मितानिन और सुपरवाइजरों सहित डॉक्टरों की टीम गठित कर किसी भी बिमारी के रोकथाम के लिए अलर्ट पर रखा गया है।
ग्रामीण अंचलों में समय-समय पर फॉगिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्रों के पीएचसी और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में इमरजेंसी सेवा के लिए किट दे दी गई है। इससे सूचना मिलते ही प्रभावित स्थल का सर्वे कर टीम कैम्प लगाकर इलाज करेगी। बारिश में सबसे ज्यादा मौसमी बीमारियों का खतरा बना रहता है। मलेरिया, डेंगू, पीलिया जैसे बीमारियांा बरसात में सेहत को नुकसान करने के लिए तैयार रहती हैं।
रायपुर जिले के सीएमएचओ डॉ केआर सोनवानी ने बताया रायपुर जिले में 27लाख की आबादी है जिसमें 13 लाख रायपुर नगर निगम में निवासरत हैं। जिले में चार ब्लॉक धरसींवा, तिल्दा, आरंग और अभनपुर में गांवों की संख्या 491 है। वहीं जिले में आठ सामुदायिक केन्द्र और 36 पीएचसी हैं।
बरसात के मौसम में ज्यादातर लोग बीमारी की चपेट में आते हैं जिसे देखते हुए सभी पीएचसी, सीएचसी, मितानिन, एएनएम सहित अन्य कार्यकर्ताओं को सजग रहने का निर्देश दिया गया है । हर साल जिले के ग्रामीण और शहरी इलाकों में उल्टी, दस्त, बुखार, पीलिया और डेंगू सहित कई बीमारियां फैलती हैं। ऐसे में संबंधित गांवों में कैंप लगाया जाता है। उन्होंने कहा जिले में चमकी बुखार की कोई शिकायत अभी.तक नहीं मिली है। आमतौर पर जापानी बुखार यानी मस्तिक ज्वर को ही चमकी बुखार कहा जाता है । इसके लिए वैक्सिन सहित सभी दवाईयां उपलब्ध है । विलंब होने परपीडि़तों की जान जाने की भी आशंका रहती हैए इसलिए पहले से टीम गठित कर सजग रहने की हिदायत दी गई है। सूचना मिलने पर तत्काल किट लेकर मौके पर जाकर उपचार करेगी।

No comments

Powered by Blogger.