Your Ads Here

एनएमडीसी नक्सल क्षेत्रों के आईआईटी में चुने गए विद्यार्थियों को देगी पांच लाख


रायपुर ।  राष्ट्रीय खनिज विकास निगम(एनएमडीसी) छत्तीसगढ़ के घुर नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में स्थानीय प्रशासन के सहयोग से चलाई जा रही छू-लो-आसमान योजना के तहत आई.आई.टी.एवं एम्स में चुने जाने वाले विद्यार्थियों को पांच लाख रूपए की सहायता प्रदान करेंगा। राष्ट्रीय खनिज विकास निगम (एनएमडीसी) के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक एन.बैजेन्द्र कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि कॉरपोरेट सामाजिक जिम्मेादारी के तहत एनएमडीसी और जिला प्रशासन दंतेवाड़ा द्वारा चलाई जा रही छू-लो-आसमान योजना के तहत विद्यार्थियों की इंजीनियरिंग एवं मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए कोचिंग दी जा रही है।इस वर्ष योजना के तहत कोचिंग लेने वाले चार विद्यार्थियों ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान( आई.आई.टी) में प्रवेश के लिए क्वालिफाई किया है।
उन्होंने बताया कि एन.एम.डी.सी. की ओर से आई.आई.टी. और एम्स में विद्यार्थियों के चयन होने पर पांच-पांच लाख रूपए की राशि उनके पाठ्क्रम के दौरान समान वार्षिक किश्तों प्रदान की की जाएगी। योजना में इस वर्ष मेडिकल प्रवेश परीक्षा(नीट0 में 39, एन.आई.टी. में 11, विद्यार्थियों ने क्वालिफाई किया है। इनमें से 06 विद्यार्थियों को एम.बी.बी.एस. कोर्स में प्रवेश मिलने की संभावना है।
उल्लेखनीय है कि छू-लो-आसमान योजना में कक्षा 8वीं के प्रतिभाशाली बच्चों का प्रवेश परीक्षा के माध्यम से चयनकर उन्हें 9 वीं से 12 वीं कक्षा की स्कूल की पढाई के साथ साथ इंजीनियरिंग और मेडिकल की प्रवेश परीक्षाओं की विशेष कोचिंग दी जाती है।योजना संचालन के लिए प्रतिवर्ष चार करोड़ की राशि एन.एम.डी.सी. की ओर से उपलब्ध करायी जाती है।इस योजना के तहत विद्यार्थियों को निःशुल्क गणवेश और कक्षा के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए पुस्तकें उपलब्ध करायी जाती है। 

No comments

Powered by Blogger.