Your Ads Here

आंगनबाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल के रूप में परिवर्तित किया जाये : कलेक्टर



  •  सीसीटीवी की निगरानी में होगा रेडी टू ईट का निर्माण 


कोरबा  । कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल ने स्वाथ्य, आदिवासी विकास एवं महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक लेकर जिले में संचालित राष्ट्रीय कार्यक्रमों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा की। मुख्यमंत्री द्वारा नवजात शिशुओं एवं गर्भवती महिलाओं में व्याप्त कुपोषण से मुक्ति के निर्देश के अनुक्रम में कोरबा जिला में कुपोषण मुक्ति को लेकर अभियान चलाने, सभी स्वसहायता समूहों द्वारा तैयार किए जाने वाले रेडी टू ईट निर्माण स्थल पर सीसीटीवी कैमरा लगाकर उसकी फुटेज देखकर भुगतान के निर्देश दिए।  रेडी टू ईट में आवश्यक सामग्री मिलाई जा रही है या नहीं इसे अवश्य देखें। किसी प्रकार की शिकायत है तो समूह को तुरंत पृथक करें। कलेक्टर ने डीडीओ आनंद प्रकाश किस्पोट्टा को निर्देशित किया कि समूह के कार्यों का क्रास चेक अवश्य करें।
समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि आंगनबाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल के रूप में परिवर्तित किया जाए। सभी केंद्र स्वच्छ, आवश्यक साज सज्जा, बच्चों को बैग की उपलब्धता सुनिश्चित हो तथा बच्चों को दिए जाने वाले रेडी टू ईट को चिकित्सकों, खाद्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा परीक्षण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कुपोषित बच्चों को संतुलित प्रोटीनयुक्त आहार एवं उपचार पर ध्यान देने के निर्देश देते हुए बच्चे के स्वास्थ्य में गुणात्मक सुधार व सामान्य विकास की दर सुनिश्चित करने, महिला एवं बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग को समन्वय कर कार्य योजना तैयार कर ग्राम स्तर पर नामजद जानकारी संधारित करने के निर्देश दिए। कुपोषित बच्चों के बेहतर उपचार के पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कर पूरक आहार देने के संबंध में आवश्यक निर्देश दिए। सीएमएचओ ने प्रत्येक बुधवार को स्वास्थ्य परीक्षण के संबंध में तैयार कार्ययोजना की जानकारी बताई। उन्होंने जिले में आर.बी.के स.के.टीम द्वारा माह अप्रैल से आज दिनांक तक आंगनबाड़ी केन्द्रों में कब-कब कितने बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है की जानकारी प्रतिवेदित करने हेतु महिला बाल विकास विभाग को निर्देश दिए।
परियोजना अधिकारी को नोटिस, सीडीपीओ का इंक्रीमेंट रोका
समीक्षा के दौरान जिले के 1 से 5 वर्ष तक उम्र के समस्त कुपोषित बच्चों का उपचार संतुलित प्रोटीन युक्त आहार एवं उपलब्ध औषधियों के द्वारा उपचार हेतु सीएचसी कटघोरा में न्यूनतम संदर्भित किये गये कार्यों को लेकर बाल विकास परियोजना अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने हेतु जिला कार्यक्रम अधिकारी को निर्देश दिए। आगामी माह में एनआरसी के बेड आक्यूपेंसी अनुरूप कुपोषित बच्चों के संदर्भ नहीं होने पर संबंधित सीडीपीओ के एक इंक्रीमेंट रोके जाने के निर्देश दिए।  

No comments

Powered by Blogger.