Your Ads Here

जिंदगी और मौत से जूझ रही हैं बांग्लादेश की पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया : बीएनपी


ढाका । बांग्लादेश नैशनलिस्ट पार्टी ने आज यहां कहा कि अस्वस्थ माहौल के कारण जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री खालिदा जिया की सेहत में पिछले एक हफ्ते में तेजी से गिरावट आई है। पार्टी का कहना है कि पूर्व प्रधानमंत्री इस कारण से जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही हैं। 3 बार प्रधानमंत्री रह चुकी 73 वर्षीय खालिदा जिया की तुरंत रिहाई की मांग करते हुए बीएनपी की स्थायी समिति के सदस्य जमीरुद्दीन सरकार ने कहा कि अकेलेपन और पर्याप्त इलाज के अभाव में जिया हृदय रोग समेत कई बीमारियों से जूझ रही हैं। खालिदा जिया पिछले साल फरवरी से ढाका में 200 साल पुरानी जेल में बंद है। वह भ्रष्टाचार के 2 मामलों में 10 साल के जेल की सजा काट रही है। ढाका ट्रिब्यून ने सरकार के हवाले से कहा, 'खालिदा जिया जिंदगी और मौत के बीच फंसी है। खालिदा को जेल में रखना, उन्हें जमानत न देना संविधान और मानवाधिकार के विपरीत है। किसी भी मामले में उनकी दोषसिद्धि का उच्चतम न्यायालय ने अंतिम रूप से निस्तारण नहीं किया है।
बीएनपी के एक्जिक्यूटिव काउंसिल के सदस्यों ने खालिदा जिया के स्वास्थ्य पर गंभीर खतरा बताते हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस की। पार्टी ने कहा कि तत्काल पूर्व प्रधानमंत्री को रिहा किया जाना चाहिए और उन्हें पर्याप्त मेडिकल सुविधाएं मिलनी चाहिए। शेख हसीना सरकार पर आरोप लगाते हुए बीएनपी ने कहा कि गंभीर स्वास्थ्य समस्या से जूझ रहीं जिया को जान-बूझकर इलाज से वंचित रखा जा रहा है।  

No comments

Powered by Blogger.