बुधवार, 3 अप्रैल 2019

,

जेट एयरवेज के अंतर्राष्ट्रीय परिचालन पर लग सकता है प्रतिबंध


नयी दिल्ली । भारी वित्तीय संकट से जूझ रही निजी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज के परिचालन में मौजूद विमानों की संख्या घटकर 15 से भी कम रह गयी है जिस कारण उसकी अंतर्राष्ट्रीय सेवा पर प्रतिबंध लग सकता है। नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने बुधवार सुबह यह जानकारी दी। उन्होंने एक कार्यक्रम से इतर बताया कि इस समय जेट के 15 से भी कम विमान परिचालन में हैं और इसलिए अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के लिए उसे दी गयी अनुमति पर पुनर्विचार किया जा सकता है।
उल्लेखनीय है कि किसी विमान सेवा कंपनी के पास 20 से ज्यादा विमान होने पर ही उसे अंतर्राष्ट्रीय परिचालन शुरू करने की अनुमति दी जाती है। हालाँकि, यह विशेष परिस्थिति है जहाँ कंपनी को पहले से ही अनुमति मिली हुई है और विमाना का किराया नहीं चुकाने के कारण अब उसके विमानों की संख्या कम हो गयी है। मंगलवार को कंपनी ने पट्टेदारों को किराया नहीं चुकाने के कारण 15 और विमानों के ग्राउंडेड होने की सूचना दी थी।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90