Your Ads Here

मजबूत या मजबुर सरकार फैसला आपका : नरेन्द्र मोदी


  • वो नामदार, हम कामगार, इसलिए सुनना पड़ता है
  • कांग्रेस और उसके सहयोगी दल चुनाव लड़ रहे जीतने के लिए, हम लड़ रहे हैं देश को मजबूत करने के लिए 
  • जो देश की रक्षा कर रहे कांग्रेस को उन जवानों की परवाह नहीं 
  • हम देश की सेना को कर रहे हैं मजबूत वो मजबुर करने में तूले हुए हैं

बालोद । आज पूरे देश में एक तस्वीर तो साफ हो चुकी है। कांग्रेस और उसके साथी दल चुनाव लड़ रहे हैं चुनाव जीतने के लिए। हम चुनाव लड़ रहे हैं देश को जीताने के लिए। कांग्रेस और उनके साथी चुनाव लड़ रहे हैं, जनता की गाढ़ी कमाई को लूटने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हैं एक-एक पाई का सही इस्तेमाल करने के लिए। कांग्रेस और उसके साथी चुनाव लड़ रहे हैं आतंकवादियों, उनके साथियों को खुली छूट देने के लिए, हम चुनाव लड़ रहे हंै आतंकवादियों, अलगावादियों को उनके किए पापों की सजा देने के लिए। वो चुनाव लड़ रहे हैं देश की सेना केा कमजोर करने के लिए हम सेना को आत्मनिर्भर बनाने के लिए लड़ रहे हंै। कांगे्रस और उसके साथी चुनाव लड़ रहे हंै मजबूर सरकार बनाने के लिए हम मजबूत सरकार बनाने के लिए। बीते पांच वर्षों में आपने देखा कि मजबूत सरकार का मतलब क्या होता है? जब सरकार मजबूत होती है तो आतंकी हमलों के बाद देश चुप नहीं बैठता है, घर में घुसकर मारता है। यह आपको तय करना है कि मजबूत सरकार चाहिए या मजबूर सरकार।
उक्त बातें आज बालोद जिले के हथौद में आयोजित एक आमसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कही। अपने उद्बोधन की शुरूआत में उन्होंने कहा कि आज नवरात्रि के पहले दिन में मां बमलेश्वरी, गंगा मईया, सियादेवी, रानी माई, बिलईमाता, अंगारमोती, कंकाली माता, और खल्लारी दाई सबो गांव के शीतला दाई और गांव के सभी देवी-देवता को प्रणाम। श्री मोदी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कई सभाएं की हैं आज की भीड़ अद्वितीय है, ऐसा दृश्य आज तक नहीं देखा। मैं यहां छत्तीसगढ़ से  पूरे देश के नागरिकों का आभार व्यक्त करने आया हूं। 2014 में आपके आशीर्वाद से प्रधान सेवक के रूप में मुझे सेवा करने का अवसर मिला, इन पांच वर्षों में आपके मजबूत साथ ने मुझे एक बहुत बड़ी शक्ति दी है। इसी का परिणाम है कि जिनको पांच वर्ष पूर्व नामुमकिन माना जाता था आज मुमकीन माना जाता है। आज लोकसभा चुनाव के समय देश के मन में एक तस्वीर स्पष्ट है, यह तस्वीर है, नियम की, यह तस्वीर है नीति की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और उसके सभी सहयोगी दल केवल चुनाव जीतने के लिए लड़ रहे हैं, हम चुनाव लड़ रहे हैं ताकि देश मजबूत हो सके। उन्होंने कहा कि जब देश में मजबूर सरकार होती है तो दुनिया आंख दिखाती है। मजबूत सरकार बनने से वही दुनिया आपकी बातों को ध्यान से सुनती है। उन्होंने कहा कि जब देश पर आतंकवादियों ने हमला किया तो यह मजबूत सरकार थी जो दुश्मनों को उनके घर में घुसकर मारती है। श्री मोदी ने कहा कि पाक में आतंकवादियों के सरपस्तों को सजा दी गई तो आपको गर्व हुआ कि नहीं। सीना चौड़ा हुआ कि नहीं, माथा ऊंचा हुआ कि नहीं। जब मजबूत सरकार होती है तो सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक भी होती है। जब मजबूत सरकार होती है तो दुनिया भी हमारी बात सुनती है और मजबूर सरकार होती है तो दुनिया रौब झाड़ती है। आज आपको डगर-डगर एक-एक दिन अनुभव होता है कि सच्चे अर्थ में मजबूत सरकार है कि नहीं। जब मजबूत सरकार होती है तो देशहित में बड़े फैसले लिए जाते हंै, और मजबूर सरकार होती है तो कुछ लोगों के स्वार्थ के लिए फैसले होते हैं। श्री मोदी ने प्रदेशवासियों का आव्हान करते हुए कहा कि अब निर्णय की घड़ी आ चुकी है कि आपको मजबूत सरकार चाहिए कि मजबूर सरकार चाहिए? अगर छत्तीसगढ़ से मजबूत सरकार की आवाज आती है तो दिल्ली में बैठे चंद आकाओं को चैन नहीं आता। आपको चौकीदार की सरकार चाहिए कि भ्रष्टाचारियों की बारात चाहिए, यह आपको तय करना है। भाजपा के शासन में छग से नक्सली हिंसा को खत्म करने का एक सफल प्रयास किया गया। लाखों सपूत जुटे रहें कुछ दिनों पूर्व ही कांकेर में जवान शहीद हुए। कांग्रेस को बलिदान की परवाह नहीं है। कांग्रेस ने अपने ढकोसला पत्र में कहा कि सीमा में जो आतंकवादियों से निपट रहे हैं, जो नक्सलवाद से लड़ रहे हैं, ऐसे जवानों को जो विशेष कवच मिला है जिसके कारण वो निश्चित होकर देश की सेवा कर रहे हैं, कांग्रेस ने अपने ढकोसला पत्र में उसे हटाने का फैसला सुनाया है। उन्होंने कहा कि देश की जनता हमें मौका देगी तो हम ये सारे कानून हटा देंगे। मैं कांग्रेसवालों से कहता हूं कि सेना के जवानों को, सुरक्षा बल के जवानों को हटवाने पर तूले हो, खुद इनकी सुरक्षा से हटकर दिखाओ। देशद्रोहियों की मदद हो या राष्ट्रप्रहरियों की मदद, इसका फैसला अब आपको करना है। कांग्रेस की यही सोच है, देश भर में गुस्सा है। श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस की नीयत में खोट है इसलिए दलालो, बिचौलियों का एक पूरा मायाजाल विकसित किया हुआ है। नीयत के खोट के कारण हेलीकॉप्टर की खरीदी में भी दलाली खाने से बाज नहीं आए। नीयत में खोट है इसलिए कांग्रेस का नामदार परिवार आज जमानत पर बाहर है। पांच साल पहले किसी ने सोचा था कि रिमोट से सरकार चलाने वाले कभी जमानत में बाहर घूमेंगे। कांग्रेस ने किसानों से कर्ज माफी का झूठा वायदा किया गया। हर चुनाव में कांग्रेस ऐसे ही झूठे वायदों का ढकोसला पत्र निकालकर लोगों को भ्रमित करती है। कांग्रेस की नीयत गरीब का भला करने की नहीं है, किसान का भला करने की नहीं है। गरीब के नाम से अपनी तिजोरी भरना यही काम है। नीयत में खेाट है इसलिए कांग्रेस अध्यक्ष सबसे आसान सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।
श्री मोदी ने कहा कि देश में कांग्रेस ने 6 दशक तक शासन किया तब गरीबों का ध्यान क्यों नहीं आया? कांग्रेस ने सिर्फ गरीबों के साथ ऐसा नहीं किया, बल्कि किसानों के साथ भी यही किया। उन्होंने कर्जमाफी का वादा किया था, वह तो पूरा नहीं हुआ। उल्टे पीएम किसान क्रेडिट योजना के तहत चल रहे योजना का लाभ वे अपने प्रदेश के किसानों को भी नहीं दिला रहे हैं। श्री मोदी ने कहा कि प्रदेश  में 35 लाख परिवार को सीधे बैंक खाते में 75 हजार करोड़ जमा कराने की योजना शुरू कराई। आपके खाते में सीधा पैसा आ रहा है, इसमें भी कांग्रेस सरकार को दिक्कत है। यहां कि सरकार ने अभी तक आधी-अधूरी किसानों की सूची दी है जिसके कारण बहुत कम परिवार को पहली किश्त मिल पाई है। बाकी देश में यह स्थिति नहीं है। सीधे पैसा मिल जाए तो इनका क्या होगा, यही चिंता इनहें सता रहीं है। देश भर में 3 करोड़ से अधिक परिवार को पहली किश्त मिल चुकी है, छत्तीसगढ़ के लाखों किसान इंतजार कर रहे हैं, इसकी जिम्मेदार नई नवेली कांग्रेस सरकार है। श्री मोदी ने कहा कि होना तो यह चाहिए था कि आदिवासियों को केन्द्र सरकार की योजना का लाभ दिलाती। रमन सिंह के काम को विस्तार देती, लेकिन नई सरकार ने आते ही ट्रांसफर पोस्टिंग का खेल शुरू कर दिया। विधानसभा चुनाव के समय कांग्रेस झूठ का जाल बिछाने में सफल हो गई थी, अब लोकसभा चुनाव है, आप सतर्क रहें, झूठे जाल में न फंसे। अंत में उन्होंने भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील करते हुए कहा कि आपका एक-एक वोट मुझे मजबूत करेगा। आप चाहते हैं कि देश मजबूत हो तो भाजपा में वोट दें।
पीएम की उपस्थिति में भाजपाईयों ने दिखाई एकजुटता :
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा में प्रदेश के भाजपा नेताओं ने एकजुटता दिखाई। श्री मोदी की सभा में पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह के अलावा कार्यक्रम प्रभारी और पूर्व मंत्री राजेश मूणत, विक्रम उसेंडी, मधुसूदन यादव सहित भाजपा के अधिकांश लोकसभा प्रत्याशी मौजूद थे। प्रदेश के कुल 11 में से 8 प्रत्याशियों ने इस सभा में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। इसके अलावा भाजपा प्रदेश संगठन के भी अनेक पदाधिकारी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे।  

No comments

Powered by Blogger.