Your Ads Here

Periods में इन बातों का रखें ख्याल, दर्द से मिलेगी निजात



महिलाओं को हर महीने पीरियड्स आते हैं। इन दिनों में महिलाओं को कमर, पेट व पेट के निचले हिस्से, बदन दर्द जैसी परेशानियां होती है। कई बार दर्द इतना बढ़ जाता है कि पेन किलर लेना पड़ता है लेकिन अगर हर बार पीरियड्स आने पर इसका ज्यादा सेवन किया जाए तो इनके साइड इफैक्ट्स भी हो सकते हैं। ज्यादा वजन वाली महिलाओं को पीरियड्स के दौरान ज्यादा परेशानी होती है। ऐसे में उन्हें योग व एक्सरसाइज को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाना चाहिए।
नार्मल लक्षण
पीरियड्स के दौरान हार्मोंन्स तेजी से बदलते हैं। इस दौरान महिला के शरीर में भी कई तरह के बदलाव आते हैं, जिसके चलते महिलाओं का मूड सुस्त व चिड़चिड़ा हो जाता है या उदासी, तनाव व गुस्सा आता है। इसके अलावा ज्यादा नींद आना, खाने-पीने का मन नहीं करना आदि ये लक्षण नार्मल हैं। अगर आपके साथ भी इस दिनों ऐसा होता हैं तो घबराइए मत।
पेट दर्द का कारण
पीरियड्स के दौरान कमर और पेट के निचले हिस्से में असहनीय दर्द होने का कारण शारीरिक कमजोरी हो सकती है। खून की कमी से पीरियड रूक-रूक कर आने या रैगुलर न होने से भी दर्द होता है। वहीं खान-पान का सहीं ना होना और ठंडा पानी पीने से भी दर्द हो सकता है।

दर्द का घरेलू उपचार
पौष्टिक गुणों से भरपूर आहार खाने से शारीरिक कमजोरी दूर रहती है, जिससे आप पीरियड्स के दौरान भी स्वस्थ रहते हैं इसलिए फल और हरी पत्तेदार सब्जियों का भरपूर सेवन करें, जिनमें विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में होते हैं। डाइट में विटामिन बी, ई, सी और फोलेट जैसे कई सप्लीमेंट्स लेना भी फायदेमंद रहेगा।
गर्म पानी
पेट दर्द होने पर गर्म पानी की बोतल या थैली पेट के निचले हिस्से या दर्द वाली जगह पर रखें। इससे गंदगी व रूका रक्त बाहर निकल जाता है और दर्द से तुरंत राहत मिलती है।


पीरियड्स पैन रिलीफ

बदन दर्द, थकान और पेट दर्द ठीक करने के लिए 1 चम्मच हल्दी का पाऊडर गर्म गिलास दूध में मिलाकर पीएं। इससे शरीर में गर्मी पैदा होती हैं जिससे इन सब समस्याओं से राहत मिलती है।

मसाज व एक्सरसाइजकमर व बदन दर्द से राहत पाने के लिए जैतून और नारियल तेल को गुनगुना करके मसाज करने से राहत मिलती हैं।इसके अलावा दर्द होने पर व्यायाम, योग या स्ट्रेचिंग का सहारा लिया जा सकता है लेकिन इस दौरान हल्की एक्सरसाइज व स्ट्रैचिंग करें।


इन बातों का रखें ध्यान
इस दौरान ठंडी तहसील वाली चीजों, दूध से बनी चीजों, मांस व दालों का सेवन करने से बचें क्योंकि इससे गैस की समस्या हो सकती है जो दर्द को बढ़ा सकती हैं।

No comments

Powered by Blogger.