Your Ads Here

कश्मीरियों को आत्मघाती हमलों के लिए उकसाती है पाक सेना


-यूएन में बोले पीओके एक्टिविस्ट
जेनेवा। आतंकवाद को बढ़ावा को लेकर दुनियाभर की किरकिरी झेल रहे पाकिस्तान का अब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के नेताओं और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने भी जमकर विरोध किया है। जेनेवा में आयोजित संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) के 40वें सत्र के दौरान एक बैठक में पीओके के मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और नेताओं ने पाकिस्तान के खिलाफ आवाज उठाते हुए पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की ओर से किए गए पुलवामा आतंकी हमले की निंदा की।
पीओके के मानवाधिकार कार्यकर्ता एम हसन ने पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि सभी आतंकी ठिकानों को तबाह किया जाए, फिर चाहे वो पाकिस्तान में हों या पीओके में. पाकिस्तान सरकार को इसकी जिम्मेदारी लेनी चाहिए और इन आतंकियों से छुटकारा पाना चाहिए। ये आतंकी स्थानीय लोगों को ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय शांति को भी नष्ट कर रहे हैं। वहीं यूनाइटेड कश्मीर पीपुल्स नेशनल पार्टी के चेयरमैन एस अली कश्मीरी ने पाकिस्तान पर हमला करते हुए कहा कि पाकिस्तानी सेना के अफसर कश्मीरी लोगों से खुले तौर पर आत्मघाती हमला करने के लिए जाने को कहते हैं, वे उन्हें उकसाते हैं जोकि एक बेहद चिंताजनक स्थिति है। 

No comments

Powered by Blogger.