Your Ads Here

योजनाओं का नाम बदले जाने पर सदन में हंगामा


  • कांग्रेस ने कहा, जो परंपरा भाजपा ने शुरू किया वहीं निभा रहे 
रायपुर। विधानसभा में आज भाजपा सदस्यों ने राज्य के नगरीय निकायों में पंडित दीनदयाल उपाधयायय के नाम पर चल रही पांच योजनाओं के नाम बदले जाने पर जोरदार विरोध दर्ज कराया। विधानसभा के शून्यकाल में भाजपा सदस्यों ने योजनाओं के नाम बदले जाने पर कड़ी आपत्ति दर्ज कराई। इस पर कांग्रेस सदस्य कवासी लखमा और मोहन मरकाम ने कहा कि यह परंपरा भाजपा के लोगों ने ही शुरू की थी, अब परंपरा चल रही है तो इस पर सदस्यों को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। विधानसभा में आज शून्यकाल में भाजपा सदस्य धरमलाल कौशिक, अजय चंद्राकर ने नगरीय निकायों में संचालित योजनाओं के नाम बदले जाने पर आपत्ति दर्ज कराई। सदस्यों ने कहा कि जो योजनाएं चल रही है उनका नाम न बदला जाए। भाजपा सदस्यों ने इसे अलोकतांत्रिक बताते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इस पर कांग्रेस की ओर से कवासी लखमा और मोहन मरकाम ने कहा कि यह परंपरा तो भाजपा के समय में ही शुरू हुई थी, अब यदि यह परंपरा चल रही है तो इसमें आपत्ति नहीं होना चाहिए। इस बीच भाजपा सदस्यों ने इस विषय पर स्थगन प्रस्ताव लाने का प्रयास किया, मगर आसंदी ने विषय को स्थागन के लायक नहीं मानते हुए अग्राह्य कर दिया।

इन योजनाओं का बदला गया है नाम :

राज्य सरकार ने जिन योजनाओं का नाम बदला है उनमें, दीनदयाल उपाध्याय स्वावलंबन योजना अब राजीव गांधी स्वावलंबन योजना हो गया है। इसी तरह दीनदयाल सर्वसमाज मांगलिक भवन योजना अब डा. बीआर अम्बेडकर सर्वसमाज मांगलिक भवन योजना हो गया है। इसी तरह दीनदयाल उपाधय एलईडी पथ प्रकाश योजना का नाम बदलकर इंदिरा प्रियदर्शिनी एलईडी पथ प्रकाश योजना, दीनदयाल उपाध्याय आजीविका केन्द्र योजना अब राजीव गांधी आजीविका केन्द्र योजना तथा पंडित दीनदयाल उपाध्याय शुद्ध पेयजल योजना अब इंदिरा प्रियदर्शिनी शुद्ध पेयजल योजना हो गया है।

No comments

Powered by Blogger.