Your Ads Here

लोगों को धक्का देकर दूर करने के लिए साथ नहीं रखता बॉडीगार्ड्स: जॉन अब्राहम



आमतौर पर जहां सिलेब्रिटीज़ कड़ी सुरक्षा के बीच रहना पसंद करते हैं और अपने साथ कई-कई बॉडीगार्ड लेकर चलते हैं, वहीं ऐक्टर जॉन अब्राहम को बिल्कुल भी पसंद नहीं है कि वह हमेशा ही बॉडीगार्ड्स के साए में चलें। क्या आप जानते हैं कि ऐसा क्यों है? इस बारे में जब जॉन से पूछा गया तो उन्होंने कहा, मैं अन्य आम इंसानों की तरह ही हूं। हम सब एक जैसे ही हैं और हम सभी का खून भी एक है। इसलिए सबसे अलग होकर चलने की ज़रूरत ही क्या है? मुझे लोगों को अपने से दूर भगाना बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता। बल्कि मुझे तो उनके साथ रहना ज़्यादा अच्छा लगता है। उन्होंने कहा कि एक बार वह एक अवॉर्ड फंक्शन में शामिल होने के लिए जा रहे थे और उन्होंने एक रिक्शाचालक को बुलाया। बाद में वह उस वेन्यू से पैदल चलकर ही वापस आ गए थे। बकौल जॉन अब्राहम, मैं बिना किसी डर या शर्म के अकेला ही वापस आ गया। मैं लोगों के साथ खड़ा होता हैं और जितनी मर्जी सेल्फी लेता हूं। मुझे भीड़ पसंद है और मैं उससे डरता नहीं हूं। इसलिए मैं लोगों को धक्का देकर दूर करने के लिए अपने साथ गार्ड्स नहीं रखता।
मैं लोगों के साथ तस्वीरें खिंचवाता हूं और फिर एक पॉइंट के बाद मैं खुद ही वहां भाग जाता हूं। अगर कोई मेरे पीछे भागता हैं तो मैं और तेजी से भागता हूं। मुझे कोई पकड़ नहीं सकता। मैं बस सभी को सॉरी, सॉरी कहता हूं और भाग जाता हूं। हालांकि ऐसा नहीं है कि मैं लोगों को देखकर ही भाग जाता हूं, बल्कि कई बार ऐसा ज़रूरी होता है ताकि लोगों को चोट न लगे या वे दुखी न हों। मैं दरअसल भूल गया हूं कि मैं खुद एक मिडिल क्लास फैमिली से आता हूं। इन दिनों जॉन अब्राहम अपनी आने वाली दो फिल्मों रोमियो अकबर वॉल्टर और बटला हाउस की तैयारियों में बिज़ी हैं। जहां हाल ही में उनकी फिल्म रोमियो अकबर वॉल्टर का फर्स्ट लुक जारी किया गया, वहीं कुछ वक्त पहले बटला हाउस का भी लुक रिलीज़ किया गया। इन दो फिल्मों से पहले पिछले साल यानी 2018 में जॉन की दो फिल्में आईं-परमाणु: द स्टोरी ऑफ पोखरण और सत्यमेव जयते। दोनों ही फिल्मों में उनके किरदार को काफी सराहा गया। 

No comments

Powered by Blogger.