8 तरह के कैंसर का 10 मिनट में पता लगाएगा यह ब्लड टेस्ट: रिसर्च






कैंसर एक ऐसी जानलेवा बीमारी है, जिसका समय पर पता ना लगाया जाए तो व्यक्ति की जान भी जा सकती है। कैंसर के लक्षण काफी देर में नजर आते हैं लेकिन हाल में वैज्ञानिकों ने एक नए ब्लड टेस्ट का तरीका निकाला है, जिससे कैंसर का जल्दी पता चल जाएगा। इतना ही नहीं,, यह ब्लड टेस्ट हर तरह के कैंसर का पता लगाने में कारगार है।
8 तरह के कैंसर की पहचान करेगा यह ब्लड टेस्ट

रिसर्च के मुताबिक, इस 10 मिनट के ब्लड टेस्ट से आठ तरह के कैंसर का पता लगाया जा सकता है। ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने कहा कि इस टेस्ट से गर्भाश्य, लीवर, पेट, पैंक्रियाज, आंत, फेफड़ों और स्तन को प्रभावित करने वाले कैंसर का शुरूआती ही समय में ही पता लगाया जा सकता है।


कैंसर स्टेज का भी पता लगाएगा ब्लड टेस्ट

शोधकर्ताओं का कहना है कि इस ब्लड टेस्ट से यह भी पता लगाया जा सकता है कि मरीज कैंसर की किस स्टेज पर है। जितनी शुरुआती अवस्था में कैंसर का पता चलता है, मरीज के बचने की दर भी उतनी ही अधिक होती है।
क्या है यह टेस्ट?

लिंफोसाइट जिनोम सेंस्टिविटी नामक इस ब्लड टेस्ट में सफेद रक्त कोशिकाओं की जांच करपके यह पता लगाया जाता है कि डीएनए का कितना नुकसान हुआ है। शोधकर्ताओं के अनुसार, सफेद रक्त कोशिकाओं से शरीर की रक्षा संबंधी सभी तरह की जानकारियां मिल सकती है। अगर इन्हें यूवीए लाइट्स के संपर्क में लाया जाए तो इनसे कैंसर का भी पता लगाया जा सकता है।


90% सही रिजल्ट देता है यह ब्लड टेस्ट

कई बार कैंसर की शुरुआती अवस्था में जांच के सही न आने का भी खतरा रहता है लेकिन ये नया ब्लड टेस्ट लगभग 90 प्रतिशत मामलों में एकदम सही रिजल्ट देता है। इसमें एक खास द्रव्य में ब्लड की कुछ बूंदें डाली जाती हैं, जिससे DNA के स्वस्थ होने का पता लगाया जाता है। अगर खून में मौजूद DNA स्वस्थ हैं तो द्रव्य अलग प्रतिक्रिया करता है और उसका रंग नीला हो जाता है। मगर कैंसर होने पर उस द्रव्य का रंग नहीं बदलता।


जल्दी मार्केट में आएगा यह बल्ड टेस्ट

ऑस्ट्रेलियाई यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने बताया, 'हमें नहीं पता यह टेस्ट कब तक मार्केट में आ सकेगा क्योंकि अभी जांच चल रही है। मगर कैंसर की शुरुआती जांच के लिए ये पूरी दुनिया में यूनिवर्सल मार्कर की तरह काम कर सकता है। इसके साथ ही ये इतना सस्ता होगी कि कोई भी इसे आसानी से अफोर्ड कर सके। सबसे अहम बात यह है कि इस टेस्ट से 10 मिनट में ही कैंसर की जांच का परिणाम आ जाएगा, जिससे इलाज जल्द से जल्द शुरू हो सकेगा। शुरुआती स्टेज में ही जांच हो जाने से इलाज भी आसान होगा और इसकी वजह से मौतौं की दर में गिरावट आने की उम्मीद भी की जा रही है।'

फिलहाल इस टेस्ट पर और शोध चल रहा है लेकिन इसकी सफलता मेडिकल साइंस की दुनिया में चमत्कार साबित हो सकती है।
कैंसर के लक्षण

वैसे तो हर तरह के कैंसर के लक्षण अलग-अलग होते हैं लेकिन फिर अगर आपको शरीर में ये बदलाव दिखाई दें तो तुरंत ब्लड टेस्ट करवाएं।
अचानक वजन घटना
शरीर में दर्द
वायरल बुखार
थकान महसूस होना
त्वचा संबंधी समस्याएं
कफ या पेशाब में ब्लड
पेट में जलन या अपच