Your Ads Here

ट्रैक्टर पलटने से एक की मौत, 5 घायल


बालोद । मिंजाई करते समय ट्रेक्टर पलटने से एक व्यक्ति की घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई और आधा दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों को उपचारार्थ जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां एक व्यक्ति की स्थिति गंभीर बनी हुई है। घटना इतनी तेजी से और भयंकर रूप से हुई कि ट्रेक्टर में दबे युवक को बचाया नहीं जा सका। इस घटना के बाद गांव में मातम पसर गया। घटना शनिवार दोपहर की बताई गई है।
बालोद जिला मुख्यालय से 13 किमी दूर ग्राम भेडिय़ा नवागांव में थ्रेसर सहित ट्रेक्टर पलट गया। ट्रेक्टर पलटते ही तीन लोग दूर छिटक गए और तीन दब गए। जिसमें से दो लोग को किसी तरह बाहर निकाल लिया गया। एक युवक ट्रेक्टर में ही दबा रहा जिससे उसकी मौत हो गई। बताया जाता है कि ड्राइवर की लापरवाही की वजह से यह घटना हुई है।
जानकारी के मुताबिक ग्राम भेडिय़ा नावगांव निवासी अशोक, डोमेश्वर, टीकम, खुश्लेश, सुमन, रामजी और जितेंद्र सभी थ्रेसर में धान मिंजाई करने गए थे। दोपहर 3 बजे घर आते समय गांव के तालाब पार के पास ट्रेक्टर और उसमें लगे थ्रेसर पलट गया। ट्रेक्टर में सवार अशोक, डोमेश्वर व खुश्लेश दूर छिटक गए, वहीं रामजी, टीकम और सुमन ट्रेक्टर के इंजन में ही दब गए।
टीकम और रामजी को किसी तरह खींचकर बहार निकाला गया, सुमन की दबने से मौत हो गई। घायलों को इलाज के लिए निजी वाहन से जिला अस्पताल बालोद ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार किया गया। घटना की जानकारी मिलते ही बालोद थाना पुलिस मौके पर पहुंची और ट्रेक्टर में दबे मृत युवक को देर शाम तक निकाला गया।
मृतक सुमन भेडिय़ा पिता नरेश (20 साल) सभी भाइयों में से सबसे छोटा था। वह बीते कुछ दिनों से थ्रेसर में धान की मिंजाई करने अपने दोस्तों के साथ जा रहा था। शनिवार को यह दर्दनाक घटना घटी।
घायल टीकम कस्तूरे पिता लोचन (24 वर्ष) ने बताया कि जिस तालाब पार से कभी कोई चार पहिया वाहन नहीं ले जाता उस तालाब पार से ट्रेक्टर के इंजन में थ्रेसर लगाकर चढ़ा रहे थे। थ्रेसर के कारण ट्रेक्टर लोड नहीं ले पाया और तालाब पार में चढऩे के पहले ही लुढ़कने लग गया। घटना इसी लापरवाही के चलते हुई है।
त्रिपाठी
००००

No comments

Powered by Blogger.