सीसीबी ने पूछताछ के बाद जनार्दन रेड्डी को किया गिरफ्तार


बेंगलुरु। कर्नाटक के पूर्व मंत्री तथा खनन कारोबारी जनार्दन रेड्डी से केंद्रीय अपराध शाखा (सीसीबी) के अधिकारियों ने पॉन्जी घोटाले को लेकर आज पूछताछ की और इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। केंद्रीय क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी आलोक कुमार ने कहा कि पर्याप्त सबूतों और गवाहों के आधार पर ही जनार्दन रेड्डी को गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि रेड्डी को कोर्ट में पेश किया जाएगा और रकम जब्त कर निवेशकों को वापेस दी जाएगी। रेड्डी के करीबी अली खान को भी गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ के लिए तीन दिनों तक हाजिर न होने वाले रेड्डी शनिवार को सीसीबी दफ्तर में उपस्थित हुए, जहां सीसीबी अधिकारी उनसे इस घोटाले को लेकर काफी देर तक पूछताछ की। जब रेड्डी ने रात को खाना खाने के लिए घर जाने की बात कही तो पुलिस ने उन्हें घर भेजने से इकार कर दिया और कहा कि उन्हें खाना यही दिया जाएगा। सीसीबी अधिकारी ने रेड्डी से प्रवर्तन निदेशालय की जांच में एक व्यापारी की मदद के बदले कथित तौर पर 18 करोड़ रुपए की कीमत का 57 किलोग्राम सोना लेेने के मामले में पूछताछ की।

जमानत याचिका खारिज

रेड्डी की अग्रिम जमानत की याचिका सोमवार को खारिज करने वाले न्यायाधीश ने उनके वकील से शुक्रवार को कहा कि अगर रेड्डी निर्दोष हैं, तो अभी तक पूछताछ के लिए सीसीबी के सामने उपस्थित क्यों नहीं हुए, बल्कि गिरफ्तारी से पहले ही जमानत की अर्जी दाखिल कर दी। कोर्ट ने शुक्रवार को रेड्डी की याचिका खारिज कर दी थी। वहीं रेड्डी ने पूछताछ के लिए सीसीबी के पास जाने से पहले 10 नवंबर को एक वीडियो जारी किया और कहा कि उन्हें 11 नवंबर को हाजिर होने के लिए कहा था, लेकिन मैं एक दिन पहले उनके सामने उपस्थित हो रहा हूं और मैं जांच दल के साथ पूरा सहयोग करूंगा।