थायराइड की शुरुआत है वजन बढना और घटना, बॉडी में आते हैं 10 बदलाव





थायराइड ग्रंथि सांस नली के ऊपर, वोकल कॉर्ड के दोनों ओर दो भागों में होती है। जो थाइराक्सिन नामक हार्मोन बनाती है। इसका आकार तितली जैसा होता है। जब यह ग्रंथि कम या फिर ज्यादा मात्रा में हार्मोंस का निर्माण करने लगती है तो इसे हाइपरथायराडिज्म कहते हैं। महिलाओं की शारीरिक क्रियाओं में इस बीमारी के शुरुआती लक्षण जल्दी दिखाई देने लगते हैं। इसकी सही समय पर पहचान करके बीमारियों से बचा जा सकता है।

1. तेजी से वजन घटना या बढ़ना

थायराइड से मोटाबॉलिज्म बहुत ज्यादा प्रभावित होता है। इस वजह से जो भी हम खाते हैं, वे पूरी तरह एनर्जी में नहीं बदल पाता। वसा शरीर में जमा होने के कारण वजन बढ़ने लगता है। कुछ लोगों पर इसका उलट प्रभाव होने के कारण तेजी से वजन घटना शुरू हो जाता है।




2. अनियमित पीरियड्स

महिलाओं में इस वजन से पीरियड्स की अनियमितता शुरू हो जाती है। कई बार देरी तो कई बार समय से जल्दी पीरियड्स आ जाते हैं। इस तरह का संकेत देखें तो थाइराइड की जांच जरूर करवाएं।




3. तनाव

जब थायराइड ग्रंथि से थायरॉक्सिन कम मात्रा में उत्पन्न होता है तो अवसाद वाले हॉर्मोंस एक्टिव होने लगते हैं। जिससे डिप्रेशन की परेशानी उत्पन्न हो जाती है।




4. कमजोरी और थकान

यह इस बीमारी के शुरुआती लक्षण है। मोटाबॉलज्म पर थायरॉक्सिन के प्रभाव से शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है। जिस वजह से शारीरिक कमजोरी और थकान महसूस होती हैं। कई बार तो इससे एनीमिया की परेशानी भी हो सकती है।




5. पेट में गड़बड़ी

पेट से संबंधित परेशानियां जैसे कब्ज, पेट की गैस बनना, भारीपन, पाचन क्रिया में गड़बड़ी थायराइड के लक्षण हो सकते हैं।




6. सीने में दर्द

इस बीमारी के शुरुआती लक्षण है। इससे दिल की धड़कन अनियमित होने लगती है।




7. खाना खाने में परेशानी

थायराइड में तेज भूख लगने पर भी खाना खाने में परेशानी होती है।




8. ज्यादा सर्दी और ज्यादा गर्मी महसूस होना

इससे ग्रस्त रोगी के शरीर पर बदलते मौसम का बहुत प्रभाव पड़ता है। इससे या तो ज्यादा गर्मी या ज्यादा सर्दी लगने लगती है। ठंड़ बर्दाशत न करने को हाईपोथॉयरायडिज्म और ज्यादा गर्मी महसूस करने को हायपरथॉयरायडिज्म कहा जाता है।




9. याददाश्त की समस्या

इससे सोचने की क्षमता प्रभावित होती है। इंसान छोटी-छोटी चीजें भी भूलने लगता है। स्वभाव पर भी इसका प्रभाव दिखाई देता है। चिड़चिड़ापन होना इसमें आम बात है।




10. चेहरे पर अनचाहे बाल

इससे हॉर्मोंस भी प्रभावित होते हैं। जिस कारण चेहरे पर अनचाहे बाल उगने लगते हैं।