सोमवार, 27 जुलाई 2020

अगर अमेरिका सेना नहीं हटाता है तो आवश्यक निर्णय लेंगे: तालिबान


काबुल। तालिबान ने अमेरिका को चेतावनी भरे लहजे में कहा है कि अगर वह दोहा समझौते के तहत अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस नहीं बुलाता है तो इस मामले में संगठन आवश्यक निर्णय लेगा ईरान की समाचार एजेंसी तस्नीम को दिए एक साक्षात्कार में तालिबान के उप-नेता मुल्ला बारादर ने कहा कि तालिबान और अमेरिका के बीच दोहा समझौता "अभी तक सकारात्मक रहा है," लेकिन अमेरिका को दोनों पक्षों के बीच हुए दोहा समझौते का पालन करना होगा। इसके तहत उसे अपने सैनिकों को अफगानिस्तान से 14 महीने के अंदर वापस बुलाना होगा।
अमेरिका और तालिबान के बीच इस वर्ष फरवरी के अंत में दोहा समझौता हुआ है। श्री बारादर ने कहा कि अभी तक अमेरिका के साथ दोहा समझौते सफल रहा है, क्योंकि अमेरिका ने पहले ही पांच सैन्य ठिकानों को खाली कर दिया है और मौजूदा समय में सैनिकों की संख्या घटाकर 8600 कर दी है। मुल्ला बारादर ने अफगानिस्तान सरकार से तालिबानी कैदियों को रिहा करने का आग्रह किया है ताकि अंतर-अफगान वार्ता के लिए रास्ता साफ हो सके। उन्होंने कहा कि अंतर-अफगान वार्ता की शुरुआत की शर्तों में 5000 तालिबानी कैदियों की रिहाई की भी एक शर्त है। अफगान सरकार ने अभी तक 4,245 कैदियों को ही रिहा किया है, जबकि तालिबान ने समझौते के तहत अभी तक 1000 में से 860 सरकारी बंधकों को रिहा कर दिया है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90