शुक्रवार, 17 अप्रैल 2020

मनीष सिसोदिया ने अभिभावकों को बड़ी राहत का किया ऐलान


नई दिल्ली। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने वैश्विक महामारी कोविड-19 की चुनौती से निपटने के लिए पूर्णबंदी के दौरान अभिभावकों को बडी राहत देते हुए ऐलान किया है कि सरकार की पहले से अनुमति लिए बिना कोई भी निजी स्कूल बच्चों की फीस नहीं बढ़ाएगा और एक साथ तीन माह की ट्यूशन फीस की बजाय एक महीने की ही फीस लेगा। श्री सिसोदिया जिनके पास शिक्षा मंत्रालय की भी जिम्मेदारी है। उन्होंने शुक्रवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये मीडिया से कहा, "मेरे संज्ञान में ये बात आयी हैं कि कई स्कूल मनमानी तरीके से फीस ले रहे हैं, स्कूल बंद होने के बावजूद ट्रांसपोर्टेशन फ़ीस वसूल रहे हैं। प्राइवेट स्कूलों को इतना नीचे गिरने की जरूरत नही है। उन्होंने कहा दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि कोई भी प्राइवेट स्कूल बिना सरकार से पूछे फ़ीस नहीं बढ़ा सकता। इस समय बच्चों की फीस नहीं देने की वजह से उनका ऑनलाइन कक्षाओं से नाम काटना उचित नहीं है। श्री सिसोदिया ने कहा कि स्कूल एक माह से अधिक फीस की मांग नहीं कर सकते। पहले आमतौर पर स्कूल तीन माह की ट्यूशन फीस एक साथ लेते हैं। स्कूल ट्रांसपोर्टेशन फीस वसूल रहे हैरान जो कतई उचित नहीं है और इसकी मांग करने पर कार्रवाई की जायेगी।
यही नहीं श्री सिसोदिया ने कहा कि सभी निजी स्कूल शिक्षकों समेत अपने कर्मचारियों को समय पर वेतन देंगे। अगर कोई समस्या है तो पेरेंट्स संस्था की मदद से अपने कर्मचारियों को वेतन देना होगा। इसमें कोई बहाना नहीं चलेगा। जो स्कूल इसका पालन नहीं करेगा उन पर आपदा कानून और दिल्ली स्कूल अधिनियम के तहत कार्यवाही होगी।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90