बुधवार, 5 फ़रवरी 2020

आपके टशन को खराब नहीं कर पाएंगी फटी एडिय़ां


फटी एडिय़ों से परेशान होने की नहीं बल्कि इनका इलाज सोचने की जरूरत है। इसके लिए आपको किसी डॉक्टर के पास नहीं जाना, बस अपनी किचन में नजर दौड़ानी है। क्योंकि जिन चार तेलों का नाम हम यहां आपको बताने जा रहे हैं या तो वे सभी या उनमें से कोई एक तो पक्का आपकी किचन में होगा।
चेहरा कितना भी सुंदर दिख रहा हो अगर एडिय़ां फटी होती हैं तो सारा इंप्रेशन खराब हो जाता है। यह तो थी इंप्रेशन की बात लेकिन हमें खुद को भी फटी एडिय़ां अच्छी नहीं लगती हैं। बहुत असहज कर देनेवाला होता है एडिय़ों का फटना। लेकिन फटी एडिय़ां लेकर घूमने की जरूरत क्या है? जब आपकी रसोई में चार कमाल के तेल रखे हों...बस 5 दिन इन्हें लगाकर देख लीजिए, रिजल्ट देखकर आपको इनसे इतना प्यार हो जाएगा कि इन्हें एडिय़ों पर लगाना आपकी आदत बन जाएगी।

शायद ही ऐसी कोई भारतीय रसोई हो, जिसमें ये 4 तेल ना हों। अगर चारों नहीं हैं तो कोई ना कोई एक तो जरूर ही होगा...क्योंकि इनके बिना हमारी पाक कला अधूरी जो रहती है। इन तेलों के नाम है तिल का तेल जिसे तिली का तेल भी कहते हैं। दूसरे नंबर पर कोकोनट ऑइल यानी नारियल तेल। फिर है ऑलिव ऑइल यानी जैतून का तेल और चौथ नंबर पर है हर रसोई में मिलनेवाला सरसों का तेल। क्योंकि कढ़ी के अलावा कई सब्जियां ऐसी हैं, जिनमें सरसों के तेल से ही तड़का लगता है।

जैतून का तेल

ऑलिव ऑइल को हिंदी में जैतून का तेल करते हैं। यह तिल अपने औषधीय गुणों के कारण काफी महंगा होता है। दो चम्मच जैतून का तेल लेकर इसे हल्का गर्म कर लें। अब कॉटन बॉल यानी रुई का फोहा हाथ में लेकर उसे इस तेल में डुबोएं और इससे फटी एडिय़ों के साथ ही पूरे तलुओं की मालिश करें। सप्ताह में दो बार ऐसा करें और बाकी दिन एक चम्मच ऑलिव ऑइल से पैरों की मसाज करें। सप्ताह भर में आपको फर्क नजर आ जाएगा।

नारियल तेल

नारियर तेल में ऐंटीबैक्टीरियल एलिमेंट्स होते हैं। साथ ही यह ऐंटीइंफ्लामेट्री भी होता है। यानी किसी तरह की सूजन या इंफेक्शन को नहीं फैलने देता है। अगर एडिय़ों में रुखापन और हल्की दरारें हैं तो आप रात में सोने से पहले पैरों की मसाज नारियल तेल से कर लें। अगर दिक्कत ज्यादा है तो सुबह और शाम दो बार पैरों की मसाज करें। मात्र 5 से 7 दिन में आपको फर्क नजर आएगा।

तिल का तेल

तिल का तेल नैचरल मॉइश्चराइजर से भरपूर होता है। अगर आपकी एडिय़ां बहुत अधिक फट चुकी हैं और उनमें बड़ी दरारे हैं तो आपको तिल के तेल से हर रोज सोने से पहले अपनी एडिय़ों और तलुओं की मसाज करनी चाहिए। क्योंकि इस तेल में नैचरल मॉइश्चर के साथ ही ऐंटीफंगल प्रॉपर्टीज होती हैं, जो पैरों एडिय़ों के गले हुए टिश्यूज को रीमूव करता है और डैमेज टिश्यूज को रिपेयर करके एडिय़ों को सॉफ्ट बनाता है।

सरसों का तेल

सबसे सस्ता और सबसे गुणकारी तेल माना जाता है। सरसों का तेल। यह हमारे देश में हर जगह सहजता से उपलब्ध भी है। सरसों तेल को किसी कटोरी में लेकर हल्का सा गर्म करें और फिर रुई की मदद से इसे फटी एडिय़ों पर लगाएं। अब हथेलियों की मदद से एडिय़ों की मसाज करें। मात्र 2 से 5 दिन में आपकी एडिय़ां खिली-खिली हो जाएंगी।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90