गुरुवार, 12 दिसंबर 2019

, ,

'जशपुर महोत्सव-2019' : मुख्यमंत्री ने जशपुर जिले को दी उद्यानिकी महाविद्यालय की सौगत

प्रत्येक व्यक्ति की उन्नति और भलाई सरकार की प्राथमिकता: बघेल

तीन दिवसीय जशपुर महोत्सव का रंगारंग समापन 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जशपुर जिले में उद्यानिकी महाविद्यालय खोलने की घोषणा की है। वें आज जशपुर जिले के कुनकुरी ब्लॉक मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम पंचायत सलियाटोली में आयोजित तीन दिवसीय जशपुर महोत्सव के समापन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की प्राथमिकता राज्य के प्रत्येक व्यक्ति की उन्नति और भलाई है। उन्होंने जशपुर महोत्सव के सफल आयोजन के लिए सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जशपुर जिला प्राकृतिक सौन्दर्य से परिपूर्ण है, यहां के लोग मेहनतकश है। यहां के लोगों की तरक्की के लिए सरकार हर संभव प्रयास करेगी। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विधायक यू.डी.मिंज द्वारा जशपुर में पर्यटन को लेकर लिखी गई पुस्तक जशपुर टूरिज्म का विमोचन भी किया।
मुख्यमंत्री बघेल ने आगे कहा कि जशपुर जिले में कटहल, स्ट्रॉबेरी, काजू, लीची, नाशपत्ती और चाय की खेती हो रही है। इसको बढ़ावा देने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने जशपुर जिले में उद्यानिकी फसलों की ख्ेाती की अपार संभावना को देखते हुए जिले में उद्यानिकी महाविद्यालय खोले जाने का ऐलान किया। उन्होंने जिले में किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाए जाने की दिशा में भी काम करने की बात कही। बघेल ने जशपुर जिले में कृषि रोजगार, उद्यानिकी, एडवेंचर स्पोर्टस, ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए कुनकुरी विधायक यू.डी.मिंज के प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि इस दिशा में काम करने की जरूरत है ताकि यहां के विकास को एक नई दिशा और युवाओं को रोजगार मिल सके।  मुख्यमंत्री बघेल ने इस मौके पर कहा कि किसानों का धान 2500 रुपए क्विंटल में खरीदने का वायदा हर हाल में पूरा किया जाएगा। चाहे कितने भी अड़चने आएं हम इससे पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने किसानों से कहा कि आपकी उपज का पैसा आपको मिलना चाहिए। आप सब अपनी ऋण पुस्तिका किसी भी बिचौलिए और व्यापारी को न दें। जशपुर जिले में सिंचाई क्षमता को बढ़ाने के लिए उन्होंने शिखरपुर जलाशय और ढोढ़ापानी जलाशय, के काम को भी आगे बढ़ाने की बात कही। कार्यक्रम को कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने भी संबोधित करते हुए कहा कि जशपुर महोत्सव ने यहां की विकास की संभावनाओं का द्वार खोल दिया है। जशपुर जिला भी अन्य जिलों के साथ तरक्की की राह पर तेजी से चलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ग्रामीणों और किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम कर रही है। 2500 रुपए क्विंटल में धान खरीदी और किसानों की ऋण माफी का उल्लेख करते हुए चौबे ने कहा कि गरीब, ग्रामीणों और किसानों को मदद करने का हौसला, हमारे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल में है। उन्होंने जशपुर जिले के प्राकृतिक सौन्दर्य को देखते हुए यहां टूरिज्म को बढ़ावा देने की बात कही। कार्यक्रम को विधायक यू.डी.मिंज, रामपुकार सिंह, विनय भगत, बृहस्पति सिंह ने भी संबोधित करते हुए जशपुर जिले के विकास के लिए मुख्यमंत्री से सहयोग का आग्रह किया। सरजियस मिंज ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।
इससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने जशपुर महोत्सव में शासन की विभिन्न विभागों द्वारा शासकीय योजनाओं, कार्यक्रमों और उपलब्धियों पर आधारित प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। इस अवसर पर जशपुर नगरपालिका अध्यक्ष हीरू राम निकुंज, माध्यमिक शिक्षा मंण्डल के सदस्य पवन अग्रवाल सहित अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे। 

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90