Your Ads Here

देश की ऊर्जा सुरक्षा पर सऊदी अरब के साथ ऊर्जा सुरक्षा पर हुई बात


नयी दिल्ली ।पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने देश की ऊर्जा सुरक्षा पर सऊदी अरब के अपने समकक्ष खालिद अल फलीह के साथ चर्चा की है।
पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने रविवार को बताया कि दोनों नेताओं ने भारत की ऊर्जा सुरक्षा, महाराष्ट्र में बन रही नयी रिफाइनरी परियोजना और कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों पर विचार-विमर्श किया। श्री प्रधान ने कच्चे तेल के उत्पादन में कटौती के ओपेक के फैसले के मद्देनजर भारत को सऊदी अरब से निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा। ओपेक पेट्रोलियम निर्यातक देशों का प्रमुख संगठन है और इसका सदस्य होने के नाते सऊदी अरब भी उसके फैसले के अनुरूप अपना उत्पादन घटायेगा। उन्होंने कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों पर चिंता जताई।
सऊदी अरब भारत को कच्चे तेल और घरेलू गैस का दूसरा सबसे बड़ा निर्यातक है। वर्ष 2017-18 में वहाँ से कुल 3.68 करोड़ टन पेट्रोलियम आयात किया जो कुल आयात का 16.7 प्रतिशत है।
श्री प्रधान और श्री फलीह ने शनिवार को इस मुलाकात में दोनों देशों के संयुक्त उपक्रम के तहत महाराष्ट्र में बनने वाली वेस्ट कोस्ट रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल परियोजना में निर्माण कार्य जल्द पूरा करने पर सहमति जतायी। इस परियोजना की कुल लागत 44 अरब डॉलर है। यह नयी बनने वाली दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरी होगी।
दोनों नेता पिछले दिनों भारत यात्रा पर आये सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सौद के प्रवास के दौरान लिये गये निर्णयों को जल्द लागू करने के लिए ठोस कदम उठाने पर भी सहमत हुये। 

No comments

Powered by Blogger.