Your Ads Here

दौलत के लालच में बेटी ने मां-बाप को उतारा मौत के घाट

  • लाश को सूटकेस में डाल नहर में बहाया
नई दिल्ली । मां-बाप अपनी बेटे और बेटी को सबसे ज्यादा प्यार करते हैं। उनकी हर ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए अपनी हर खुशियों को त्याग देते हैं। लेकिन अगर बेटी और बेटा ही अपने मां-बाप के दुश्मन बन जाएं तो उनका क्या होगा। एक ऐसा ही रोंगटे खड़े कर देने वाला मामला देश की राजधानी दिल्ली से सामने आया है। जहां दौलत की लालच में लड़की ने अपने ही मां-बाप का घोला घोंट के उन्हें मौत के घाट उतार दिया और लाश को सूटकेस में भर पानी में बहा दिया। इस घटना ने हर किसी को हैरान कर दिया।
देविंदर कौर ने पुलिस के सामने कबूल किया कि लाखों की प्रॉपर्टी पाने के लिए उसने मां-बाप की हत्या की थी, जिसमें बॉयफ्रेंड प्रिंस ने उसका साथ दिया था। पुलिस डबल मर्डर में इनके साथ रहे कुछ अन्य लोगों की तलाश में दबिश दे रही है। पुलिस के मुताबिक, एक बेटी ने बॉयफ्रेंड की मदद से अपने मां-बाप की न सिर्फ हत्या कर दी, बल्कि उनकी डेडबॉडी को सुनियोजित तरीके से सूटकेस में पैक करके बहते हुए नाले में फेंक आए। लेकिन ड्रेन में सूटकेस के फंस जाने से इस दोहरे हत्याकांड की साजिश से पर्दा उठ गया। पुलिस ने बेटी और उसके बॉयफ्रेंड को गिरफ्तार कर लिया है।
पति से अलग रहती है देविंदर
डीसीपी सेजू पी कुरुविला के मुताबिक, 47 वर्षीय महिला जागीर कौर और उनके पति 50 वर्षीय गुरुमीत कौर निलोठी एक्सटेंशन में रहते थे। इनकी 26 साल की बेटी देविंदर कौर उर्फ सोनिया की शादी हो चुकी है। उसके 6 और 5 साल के दो बच्चे भी हैं। लेकिन वह पिछले एक साल से पति और बच्चों को छोड़कर लखनऊ के गोमती नगर एक्सटेंशन निवासी प्रिंस दीक्षित (29) के साथ रह रही है। देविंदर कौर की नजर अपने मां-बाप की प्रॉपर्टी भी थी। देविंदर इसे अपने नाम कराना चाहती थी, लेकिन मां-बाप तैयार नहीं थे। इसी के बाद देविंदर कौर ने अपने मां-बाप को रास्ते से हटाने की साजिश रची।
बॉयफ्रेंड की मदद से मारा माता-पिता को
21 फरवरी को अपने 50 वर्षीय पिता गुरुमीत कौर को पहले चाय में मिलाकर नींद की गोलियां दीं, उसके बाद बॉयफ्रेंड के साथ मिलकर उनका गला दबा दिया। लाश को सूटकेस में डालकर नहर में फेंक दिया। बेटी ने जब पिता की हत्या की, उस वक्त मां जागीर कौर अपने पिता के निधन पर जालंधर गई थीं। 2 मार्च को जब मां वापस आईं तो उन्हें भी नींद की गोलियां देकर मार दिया और शव नहर में डाल दिया। 8 मार्च को पुलिस को कॉल मिली कि नांगलोई के पास ड्रेन में एक सूटकेस फंसा हुआ है। पुलिस ने उसे निकलवाकर देखा तो उसमें जागीर कौर का शव था। दूसरे दिन गुरमीत का भी शव ड्रेन से बरामद हुआ।

No comments

Powered by Blogger.