विंडीज के खिलाफ T-20 सीरीज शुरू होने से पहले रोहित का बयान आया सामने


कोलकाता। भारतीय कप्तान रोहित शर्मा को भरोसा है कि रविवार से विंडीज के खिलाफ शुरू हो रही टी20 श्रृंखला में करिश्माई विकेटकीपर बल्लेबाज महेन्द्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी का फायदा उठाकर युवा खिलाड़ी ऋषभ पंत अपने प्रदर्शन से प्रभावित करेंगे। धोनी की बल्लेबाजी फार्म लंबे समय से खराब चल रही है। पंत के पास ऐसे में खेल के इस सबसे छोटे प्रारूप में टीम में जगह पक्की करने का शानदार मौका होगा। सीनियर खिलाड़ी दिनेश कार्तिक को भी प्रदर्शन में निरंतरता की कमी के बाद भी खुद को साबित करने का एक और मौका मिला है।


रोहित ने कहा, ‘‘ धोनी पिछले कई वर्षों से हमारे लिए बहुत बड़े खिलाड़ी रहे हैं। मैदान में हमें उनकी अनुभव की कमी खलेगी लेकिन ऋषभ और दिनेश के पास अपनी प्रतिभा को दिखाने का शानदार मौका होगा। उन्हें खुद को साबित करने का मौका मिला हैं।’’ भारतीय टीम भले ही टी20 श्रृंखला में खेल रही हो लेकिन रोहित तीन मैचों की इस श्रृंखला को विश्व कप की तैयारियों से जोड़कर देख रहे है। उन्होंने बेंच स्ट्रेंथ को मजबूत करने पर जोर देते हुए कहा, ‘‘ हम विश्व कप में सीमित संसाधनों के साथ नहीं जा सकते। हमारे पास विकल्प होना चाहिए। यह खिलाडिय़ों को परखने का शानदार मंच है।’’ भारतीय टीम में क्रुणाल पंड्या और शाहबाज नदीम जैसे दो बाएं हाथ के स्पिनरों को चुना गया है जिसमें से झारखंड के नदीम ने विजय हजारे ट्राफी में लिस्ट ए क्रिकेट का विश्च रिकार्ड बनाते हुए 10 रन देकर आठ विकेट लिये थे।


रोहित ने कहा, ‘‘ शाहबाज नदीम पहली बार टीम का हिस्सा बने हैं। क्रुणाल का पहले भी चयन हुआ है लेकिन उन्हें खेलने का मौका नहीं मिला। टी20 क्रिकेट में विंडीज की टीम को मजबूत माना जाता है और रोहित भी इस बात से वाकिफ है। विंडीज ने टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल सहित पिछले चारों मैचों में भारत को हराया है। भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘ उनकी टीम खतरनाक है। टी20 में उनकी टीम विश्व में सबसे मजबूत टीमों में से एक है। हमने पहले भी ऐसा देखा है। उनके पास इसका ज्यादा अनुभव है। यह ऐसा प्रारूप है जिसका वे सबसे ज्यादा लुत्फ उठाते है और सफल भी रहे है। निसंदेह वे काफी मजबूत प्रतिद्वद्वी होंगे।’’